बहन ने भाई को गर्लफ्रेंड के साथ गलत काम करते हुए देख लिया और फिर जो हुआ....

उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात में 28 अक्तूबर की रात हुई छात्रा सपना (16) की हत्या का पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस की मानें सपना की हत्या उसके बड़े भाई अखिलेश ने शराब के नशे में गला घोंटकर की थी। अखिलेश को बचाने के लिए उसके पिता व छोटे भाई ने घटना की जानकारी पुलिस को नहीं दी, बल्कि दोनों ने साक्ष्य मिटा दिए। पुलिस ने अब तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

क्या है मामला
जानकारी के अनुसार, मामला रसूलाबाद के ताजपुर गांव का है। एसपी अनुराग वत्स ने घटना का खुलासा करते हुए मीडिया को बताया कि ताजपुर निवासी ट्रक चालक बलवान सिंह यादव की बेटी सपना बुआ सावित्री के घर हीरा नगला सौरिख कन्नौज में रहकर इंटर की पढ़ाई कर रही थी। दीपावली मनाने वह 24 अक्तूबर को गांव आई थी। सपना के पिता व बड़ा भाई अखिलेश गुड़गांव की एक फैक्टरी में काम करते हैं। वे दोनों भी त्योहार पर घर आए थे। 28 अक्तूबर की रात घर में ही सपना की गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी।

नहीं दी पुलिस को सूचना
सपना के परिजनों ने घटना की सूचना दिए बिना ही उसका अंतिम संस्कार करने की तैयारी कर ली, लेकिन किसी ने पुलिस को घटना की सूचना दे दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सपना की गला घोंटकर हत्या किए जाने का खुलासा होने के बाद भी बलराम व परिवार के अन्य लोगों ने कोई भी कार्रवाई किए जाने से मना कर दिया था। जिसके बाद पुलिस के शक की सुई ऑनर किलिंग की तरफ घूम गई।

गांव की एक युवती से अखिलेश के संबंध
बुधवार को पुलिस ने पिता व दोनों भाइयों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। एसपी ने बताया कि पूछताछ में अखिलेश ने बताया कि गांव की एक युवती से उसके संबंध हैं। 28 अक्तूबर की रात युवती उससे मिलने घर में आई थी। उसी दौरान सपना ने दोनों को एक साथ आपत्तिजनक अवस्था में देख लिया था। युवती घर से जाने के बाद वह काफी डर गया था। प्रेमिका के घर आने का राज न खुले इसलिए उसने इकलौती बहन सपना की गला दबाकर हत्या कर दी। वारदात के वक्त उसने शराब पी रखी थी।