पत्नी की पहली विदाई नहीं हुई बर्दाश्त, युवक ने कर लिया ऐसा गलत काम...

वाराणसी के सारनाथ क्षेत्र के पंचक्रोसी के पास स्थित दुर्गा नगर कॉलोनी निवासी अभिषेक राजभर (22) ने शनिवार को फांसी लगा कर जान दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम भेज दिया है। युवक की 28 नवम्बर को शादी हुई थी और पत्नी की पहली विदाई के बाद से वह परेशान रहने लगा था इसके चलते ही उसने सुसाइड कर लिया। सारनाथ थाना प्रभारी विजय बहादुर सिंह ने कहा कि घटना को लेकर किसी तरह का शक नहीं है। युवक ने खुद ही फांसी लगा कर जान दी है।
दुर्गा नगर कॉलोनीनिवासी व टेलीकॉम मैकेनिक राजकुमार के बेटे अभिषेक राजभर की शादी 28 नवम्बर को चोलापुर के जगदीशपुर निवासी नीतू से हुई थी। अभिषेक चार भाई व बहनों में सबसे छोटा था और एक निजी स्कूल में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता था। शादी के लिए उसने दो माह का अवकाश तक लिया था। शादी के बाद अभिषेक काफी खुश था। शादी के बाद उसकी पत्नी नीतू की पहली विदाई 11 दिसम्बर को हुई थी। पत्नी के जाने के बाद वह बहुत उदास रहने लगा था। बीती रात वह खाना खाकर सोया था। परिजनों को जरा भी आंदेशा नहीं था कि उनका बेटा ऐसा कदम उठा सकता है। 
अभिषेक का कमरा सुबह बंद था और उसके पिता अपनी ड्यूटी पर चले गये थे। काफी देर तक अभिषेक का कमरा नहीं खुला तो परिजनों ने दरवाजा खटखटाया लेकिन कमरा नहीं खुला। परिजनों ने कमरे में झाक कर देखा तो पत्नी की साड़ी के फंदे से अभिषक लटका हुआ है। परिजनों ने आस-पास के लोगों को बुलाया और दरवाजा तोड़ कर युवक को फंदे से उतारा। लेकिन तब देर हो चुकी थी। परिजनों की सूचना पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्ट के लिए भेज दिया है। परिजनों के साथ आस-पास के लोग कह रहे हैं कि पत्नी के जाने के बाद वह बहुत उदास रहता था।