ठगी की ऐसी सच्ची प्रेम कहानी, पढ़ने के बाद आपके भी रोंगटे खड़े हो जाएंगे

रमेश के घर के सामने काफी लोगों की भीड़ लगी थी। पुलिस भी मौके पर मौजूद थी। रमेश की माँ चीख-चीख कर रो रही थी। पुलिस भी घर की छानबीन कर रही थी। घर काफी सजा हुआ था। आखिर क्या हुआ था रमेश के घर में, आइये जानते हैं। रमेश दिल्ली की एक बैंक में नौकरी करता था। अभी दो साल पहले ही उसकी पीओ के पद पर नौकरी लगी थी। वह काफी स्मार्ट और अपने कामकाज में बहुत ही कुशल था। उसकी उम्र 27 साल हो गई थी किन्तु उसकी अपनी शादी नहीं हुई थी। एक दिन उसकी सोशल मीडिया पर मुलाक़ात शिवानी राजपूत नामक लड़की से हो गई। 
अब तो रमेश और शिवानी घंटों सोशल मीडिया पर चैट किया करते। दोनों को सोशल मीडिया पर ही प्यार हो गया। एक दिन रमेश ने शिवानी से शादी के लिए कहा किन्तु उसने पहले ना किया किन्तु बाद में तैयार हो गई। इसके बाद दोनों ने रमेश नगर दिल्ली में मिलने का प्रोग्राम बनाया। शिवानी भी देखने में किसी रूप की रानी से कम नहीं लग रही थी। दोनों 10 दिनों तक चुप-चुप कर मिलते रहे। एक दिन रमेश ने उसके माता पिता के बारे में पूंछा तो वह उदास हो गई। उसने बताया कि उसके माँ और बाप बचपन में ही ख़त्म हो गए थे। अब वह अपने मामा और मामी के साथ रहते हैं।
11 अक्टूबर 2019 को शिवानी के मामा और मामी रमेश के घर गए। इसके बाद उन्होंने शिवानी का रिश्ता तय कर दिया। 26 अक्टूबर 2019 को रमेश की बड़ी धूम धाम से शिवानी के घर पर बारात गई। शिवानी बिदा होकर रमेश के घर आ गई। उसने शाम को सभी परिवार के खाने में नशे की गोलियां मिला दीं और रमेश को भी दूध में नशे की गोलियां मिलाकर पिला दिया। इसके बाद उसने रमेश के घर में रखा सभी कीमती सामान उठाया। बाहर दरबाजे पर ही उसका मामा इंतज़ार कर रहा था। वो दोनों सारा सामान लेकर भाग गए। सुबह जब सभी जागे तो शिवानी गायब थी और सारी अलमारियां खुली पड़ी थीं। इसी कारण रमेश ने पुलिस को फोन किया था। लोगों की भीड़ भी जमा हो गई थी।
मामला लाखों रुपये ककी धोखाधड़ी और चोरी का था। इस लिय पुलिस ने इसे काफी सीरियस लिया। पुलिस ने शिवानी का फोन सर्विसलांस पर लगा दिया और घटना के तीन दिन बाद ही शिवानी और उसके मामा-मामी को फरीदाबाद के एक होटल से गिरफ्तार कर लिया। जब शिवानी से कड़ाई से पूंछा गया तो उसने बताया कि वह अभी तक कई प्रदेशों में 42 लोगों को ठग चुकी है। उसने अपना असली नाम सलमा तसलम बताया है। उसने बताया कि नाम बदल कर लोगों को अपने चंगुल में फंसाती थी। उसके मामा ने बताया कि हम ऐसे लोगों को शिकार बनाते थे जो काफी अमीर होते थे। वह शर्म के कारण ही पुलिस में रिपोर्ट नहीं करते थे। पुलिस ने तीनो को हिरासत में ले लिया है और पुलिस उन 42 लोगों की भी तलाश कर रही है।