मां जिस घर में काम करती थी, बेटों ने वहीं पर कर डाला ऐसा शर्मनाक काम...

ग्रेटर कैलाश स्थित जिस घर में मां काम करती थी, उसी मालिक के घर में बेटों ने सेंधमारी की वारदात को अंजाम डाला। कारण सिर्फ यह था कि कारोबारी ने लाजपत नगर स्थित अपने जूलरी शोरूम से महिला के बेटे को नौकरी से निकाल दिया था। नौकरी से निकाले जाने से नाराज होकर उसने भाई के साथ मिलकर सेंधमारी की वारदात को अंजाम दे डाला, लेकिन अमर कॉलोनी थाना पुलिस ने उसे 29 नवम्बर को अस्थाकुंज से बड़े भाई रनवीर को गिरफ्तार कर लिया।

महिला ने दर्ज कराई थी पुलिस में शिकायत
रनवीर से पूछताछ के बाद पुलिस ने 1 लैपटॉप, 5 मोबाइल, जूलरी और जूलरी शोरूम की चाबी बरामद कर उसके छोटे भाई मिथुन को भी गिरफ्तार कर लिया। दोनों भाइयों ने घर में चोरी के बाद शोरूम लूटने की साजिश रची थी, लेकिन इससे पहले ही पुलिस ने धर दबोचा। डीसीपी चिन्मय बिश्वाल ने बताया कि 22 नवम्बर की रात को ग्रेटर कैलाश में रहने वाली एक महिला ने अमर कॉलोनी थाना पुलिस को घर से चोरी की शिकायत दर्ज कराई थी। पीड़ित के शिकायत पर इंस्पेक्टर अंनत कुमार गुंजन के नेतृत्व में टीम बनाई गई।

शोरूम लूटने की थी प्लानिंग

पुलिस अधिकारी के मुताबिक, पूछताछ में पता चला कि दो आरोपी भाई नौकरी के दौरान पीड़ित के घर कई बार जा चुके हैं। इसलिए वह लोग घर में सभी जगहों से वाकिफ थे। अब वह लोग घर के बाद जूलरी शोरूम लूटना चाहते थे, जिसके लिए उन्होंने घर से सामान के साथ शोरूम की चाबी भी चोरी कर ली थी, लेकिन जब चोरी करने गए तो चाबियों से ताला ही नहीं खुला।

डेढ़ साल पहले आरोपी को निकाल दिया था नौकरी से

जांच के दौरान पता चला किपीड़ित महिला के पति का लाजपत नगर में जूलरी शोरूम है। उन्होंने करीब डेढ़ साल पहले अपने शोरूम पर काम करने वाले रनवीर को नौकरी से निकाल दिया था। नौकरी से निकाले जाने के बाद से वह बेरोजगार था। यह भी पता चला कि उसकी मां पीड़ित कारोबारी के घर काम करती है। रनवीर की मां ने भी अपने बेटे के हरकत पर शक जताया। उसके बाद पुलिस ने चोरी के लैपटॉप के साथ उसे अस्थाकुंज से गिरफ्तार कर लिया। रनवीर ने पूछताछ में चोरी की वारदात कबूल कर ली, जिसके बाद पुलिस ने उसकी निशानदेही पर चोरी का सारा सामान बरामद कर उसके भाई मिथुन को गिरफ्तार कर लिया।