चार लड़कों की मां को सेल्समैन से हुआ प्यार, फिर पति के साथ करवा दिया कुछ ऐसा काम की...

सिकंदरा के राधा नगर से यहां तीन नवंबर को लापता हुए चेन कारीगर हरिओम सिंह की हत्या कर दी गई और इसका आरोप उसकी पत्नी बबली और उसके प्रेमी कमल पर है। पुलिस ने इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। यहां प्रेम संबंध के विरोध पर हत्या की बात सामने आई है। इन दोनों ने शव को संदूक में बंद करके जवाहर पुल से यमुना फेंक दिया और फिर फरार हो गए। अब पुलिस यहां शव को बरामद करने का प्रयास कर रही है  
हरिओम उम्र 36 साल मूलरूप से गांव अगवार, एत्मादपुर निवासी पुत्र राजवीर चेन फैक्टरी में आपरेटर था। उसकी शादी 17 साल पहले बबली पुत्री निहाल सिंह से हुई थी और उसके चार बच्चे ज्योति, राशि, नमन और गुड्डो हैं। फरवरी में बबली के संबंध दहतोरा निवासी कमल उर्फ करन से हो गए थे और इसकी भनक हरिओम को भी लग गई। इसका वो विरोध करता था। 20 दिन पहले सिकंदरा के राधा नगर में वो परिवार सहित रहने आया था। 
हरिओम की बेटी ज्योति और बेटा नमन दादा राजवीर के पास रह रहे थे और वहीं राशि और गुड्डो हरिओम के पास थी। इस तीन नवंबर को हरिओम घर से लापता हो गया था। पत्नी और बच्चे भी नहीं मिल रहे थे। इसके दो दिन बाद राजवीर ने थाना सिकंदरा में गुमशुदगी दर्ज कराई। पुलिस बबली की तलाश कर रही थी और फिर शनिवार को बबली को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। कमल भी पकड़ा गया। पुलिस की पूछताछ में दोनों ने बताया कि कमल की गला दबाकर हत्या कर दी थी। 
इन दोनो आरोपियों ने हत्या के बाद शव को संदूक में रखकर जवाहर पुल से यमुना में फेंक दिया। पुलिस ने यहां जवाहर पुल के नीचे यमुना में शव की तलाश की, लेकिन रात होने की वजह से तलाश पूरी नहीं हो सकी। एएसपी सौरभ दीक्षित ने बताया कि बबली के कमल से प्रेम संबंध थे और वह प्रेमी के साथ रहना चाहती थी। पति विरोध करता था। इसलिए उसकी हत्या कर शव यमुना में फेंक दिया।
कमल ने पुलिस को बताया कि वो बोदला स्थित साड़ी शोरूम में काम करता है। बबली जनवरी में शोरूम पर आई थी। वो साड़ी दिखा रहा था और तभी उसके संबंध बबली से हो गए। इसकी भनक हरिओम को लग गई। अगस्त में बबली को कमल लेकर चला गया था। दो महीने बाद लौटा था। इसके बाद हरिओम ने पत्नी को समझाया। घटना वाले दिन हरिओम ने बबली की पिटाई की। बबली ने कमल को फोन से जानकारी दी। रात 11:30 बजे कमल बबली से मिलने पहुंच गया।
इस दौरान झगड़ा होने पर कमल ने उसका गला दबा दिया। बबली ने पैर पकड़ लिए थे। हालांकि पुलिस की पूछताछ में बबली ने बताया कि वो दोनों बेटियों को लेकर बैठी हुई थी और तभी कमल का पति से विवाद हो गया। उसने हत्या कर दी। पकड़े जाने के डर से वो भी उसके साथ चली गई। कमल ने तीन नवंबर रात ढाई बजे ऑटो रिक्शा बुक किया। चालक को टूंडला जाने की बात कही। वाटर वर्क्स पर पहुंचने पर उतर गए। चालक ने जाने से मना कर दिया। इसके बाद संदूक को यमुना में फेंककर दिल्ली चले गए।