लंदन से घर आई थी लड़की, फ्रेंड के संग टहलने निकली; बीच रोड से उसको उठा ले गए बदमाश

पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर कराची के पॉश इलाके डिफेंस से रविवार को अगवा हुई लड़की का अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है. दुआ निसार मंगी नाम की युवती के अपहरण से पाकिस्तान में हड़कंप मचा हुआ है और उसकी रिहाई के लिए सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक मुहिम छेड़ी गई है.
'जंग' ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि 20 वर्षीय दुआ यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन से कानून की पढ़ाई कर रही है और उसके फेसबुक प्रोफाइल के मुताबिक वह महिलाओं के अधिकारों के लिए आवाज उठाने वाले एक वैश्विक संगठन से भी संबद्ध है. दुआ को रविवार देर रात उस समय अगवा किया गया जब वह अपने दोस्त हारिस सोमरो के साथ टहलने निकली थी. 
एक वाहन में सवार चार से पांच लोगों ने उसे अगवा कर लिया. हारिस ने जब विरोध किया तो इन लोगों ने उसे गोली मार दी. अस्पताल में इलाज चल रहा है. सनसनीखेज वारदात के बाद सिंध प्रांत के मुख्यमंत्री ने पुलिस को विशेष टीम का गठन कर दुआ को जल्द से जल्द बरामद करने का निर्देश दिया. हालांकि, पुलिस अभी इस मामले में सुराग नहीं लगा पाई है.
'एक्सप्रेस न्यूज' ने अपनी रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया है कि जांच एजेंसियों का ध्यान दुआ के एक दोस्त पर केंद्रित है. दुआ कुछ समय पहले विदेश गई थी जहां उसकी मुलाकात मुजफ्फर नाम के एक युवक से हुई. देश लौटने के बाद दुआ और मुजफ्फर में दूरी बढ़ गई जिससे मुजफ्फर परेशान बताया जा रहा था.