घर की औरतों पर थी गंदी नजर, क्राइम पेट्रोल को देखकर दोस्त ने किया ऐसा गलत काम

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले की पुलिस ने एक ऐसे ब्लाइंड मर्डर का खुलासा किया है जिसमें आरोपी ने क्राइम पेट्रोल सीरियल देखकर अपने ही दोस्त को कत्ल करने का ताना-बाना बुना था. लेकिन तमाम चालों के बावजूद कानून के लंबे हाथ उस तक पहुंच गए. लोनार पुलिस की गिरफ्त में खड़े काली शर्ट वाले युवक का नाम मानवेंद्र सिंह है जबकि दुसरे का नाम शिवम् है. मानवेन्द्र जो थाना सांडी के पिंडारी गांव का ग्राम प्रधान भी है. इसको पुलिस ने बीती 1 नवंबर को शहर कोतवाली के रहने वाले हैं शिवनंदन सिंह की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है.
शिवनंदन का शव 2 नवंबर की सुबह लोनार थाने के बावन कस्बे के पास नहर के किनारे पड़ा मिला था. प्लास्टिक की टाई से शिवनंदन की गला घोंटकर हत्या करने के बाद उसका शव फेंक दिया गया था. पुलिस जांच में पता लगा कि मृतक के मोबाइल पर एक अज्ञात नंबर से कॉल आया जिसके बाद से मृतक लापता हो गया था. पुलिस ने जब अज्ञात कॉल की डिटेल निकाली और तलाश शुरू कर दी. पुलिस को पता चला कि आरोपी ने प्री एक्टिवेटेड सिम खरीदा है और उससे केवल एक ही बार शिवनंदन को बुलाने के लिए कॉल की गई. 
जिसके बाद पुलिस ने सिम बेचने वाले की तलाश की और उससे मिले हुलिए के आधार पर कातिल तक जा पहुंची. जैसे ही पुलिस ने आरोपी ग्राम प्रधान मानवेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया तो उसके मोबाइल की भी लोकेशन घटनास्थल की निकली, जिसके बाद पुलिस ने उससे कड़ाई से पूछताछ की तो आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. आरोपी के मुताबिक, शिवनंदन का उसके घर पर आना जाना था और उसका चाल चलन उसके घर पर सही नहीं था. वह घर की औरतों पर गलत नजर रखा हुआ था, जिसको लेकर उसने टीवी पर क्राइम पेट्रोल सीरियल देख कर शिवनंदन का कत्ल करने की योजना बनाई.
पहले उसे एक नया सिम और मोबाइल खरीद कर फोन करके बुलवाया और फिर कबाब खिलाने और शराब पीने के बाद उसे अपनी वैगन आर कार में बैठाया. फिर शिवम ने पीछे से प्लास्टिक की टाई से गला घोंट दिया. फिर शिवनंदन की हत्या करने के बाद उसके शव को नहर के पास फेंककर फरार हो गया. पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त कार और प्लास्टिक की टाई बरामद कर ली है.