अहमदाबाद की यह शादी बन गई एक अच्‍छी मिसाल, हो रही है तारीफ, वजह ही कुछ ऐसी है...

आपने आमतौर पर खर्चीली और महंगी शादियों के विलासितपूर्ण गौरवगान की कई खबरें सुनीं या पढ़ी होंगी लेकिन अहमदाबाद में संडे को एक एक शादी हुई, जिसके बारे में जानकार आप वाह कह उठेंगे। यह शादी पूरी तरह सादगी से हुई। सादगी से कई विवाह समारोह होते हैं लेकिन इस आयोजन के बारे में यह खास है कि इसे पहले महंगे बजट में होना तय किया गया था। 
अचानक कुछ ऐसा हुआ कि यह दिखावे से बदलकर सादगी पर आ गई। अब सभी लोग इस सादगीपूर्ण शादी के समारोह की सराहना कर रहे हैं। व्‍यापारी समुदाय के लोगों में आमतौर पर समारोहों में खर्च को अपना स्‍टेटस सिंबल माना जाता है लेकिन महानगर के जाने माने उद्यमी कपड़ा व्‍यापारी दीपक कुमार अग्रवाल ने सादगी की एक नजीर पेश करते हुए अपने पुत्र का विवाह एक मंदिर में संपन्‍न कराया। पहले यह विवाह उदयपुर के पैलेस में होना था। 

दीपक कुमार अग्रवाल अहमदाबाद के मस्‍कती कपड़ा बाजार के प्रमुख व्‍यापारी हैं, उनके पुत्र शुभम्र अग्रवाल की सगाई ध्‍वनि अग्रवाल के साथ की गई थी। उदयपुर के पैलेस में विवाह कराने की तैयारियां भी परिवार करने लगा था कि अचानक दूल्‍हे के चाचा संजय अग्रवाल ने सुझाव दिया कि यह विवाह अहमदाबाद में सादगी से संपन्‍न कराकर परिवार को फालतू खर्च से बचाने का एक उदाहरण पेश करना चाहिए। 
दीपक व उनके समधी ने संजय के प्रस्‍ताव को सहर्ष स्‍वीकार कर लिया। रविवार को अपने बच्‍चों का विवाह पूरी सादगी के साथ अहमदबाद श्री राणी शक्ति सेवा समिति शाहीबाग मंदिर में संपन्‍न कराया। विवाह समारोह में दूल्‍हा व दुल्‍हन के अलावा करीब एक दर्जन लोग शामिल हुए। यह विवाह पूरी सादगी से संपन्‍न हुआ। गौरतलब कि है कि बीते दिनों अग्रवाल समाज ने भी विवाह समारोहों में व्‍यर्थ पैसा खर्च पर रोक लगाने की समाज को नसीहत दी थी।