10 लाख के लिए ग्राम प्रधान का हुआ किडनैप, पुलिस ने जंगल से किया बरामद

झारखंड के रांची जिले के नामकुम थाना क्षेत्र के अन्तर्गत एक ग्राम प्रधान का अपहरण कर लिया गया. अपहरण नामकुम थाना क्षेत्र के सोगद गांव के ग्राम प्रधान संदीप सांडिल का हुआ है. अपहरण की इस घटना के बाद पूरे गांव में सन्नाटा पसरा नज़र आया और लोगो की जुबान पर लगता है कि जैसे ताला जड़ दिया गया हो. हालांकि पुलिस को जैसे ही इस मामले की सूचना मिली, उसके बाद पूरे इलाके में सर्च अभियान चलाया गया. 
इस इलाके में पुलिस की बढ़ती दबिश को देखते हुए अपहरणकर्ता आखिरकार ग्राम प्राधान को छोड़ कर फरार हो गए. संदीप का अपहरण पैसों के लिए किया गया था. ग्राम प्रधान के परिजनों से 10 लाख की फिरौती की मांग की गई थी. इस मामले की सूचना मिलने बाद ही पुलिस अलर्ट हो गयी और सघन सर्च अभियान आसपाआस के जंगलों में चलाया गया. पुलिस ने संदीप सांडिल को दशम फॉल के हुसिरहातू जंगल से बरामद कर लिया.

इस बारे में मिली जानकारी के अनुसार सोगद गांव में 8-10 की संख्या में हथियार बंद अपराधी पहुंचे थे. वे सीधे ग्राम प्रधान सुनील सांडिल के घर पहुंचे, जहां उनके साथ मारपीट भी की गई और फिर उन्हें उठाकर जंगल की तरफ ले गए. इसके बाद से ही पूरे गांव में भय का माहौल देखने को मिला है और उसकी बानगी शनिवार को साफ तौर से कैमरे में कैद हुई. लोग इस बारे में बोलना तो दूर कैमरे की नज़रों से आने से भी बचते नज़र आए.

हालांकि पुलिस दबिश की वजह से अपराधियों ने आखिरकार अपने घुटने टेक दिए और ग्राम प्रधान को सुरक्षित जंगल मे छोड़ दिया. इसके बाद ग्राम प्रधान को जंगल से पुलिस लेकर लौटी. हालांकि अपहरण जिस तरह से हुआ उसके पीछे नक्सलियों का हाथ होने की बात सामने आई, लेकिन रांची एसएसपी ने इसे सिरे से खारिज किया है और कहा है कि घटना स्थानीय युवकों के ने ही अंजाम दिया है.