मालगाड़ी की तीन बोगीयां पलट गईं, ट्रैक सही करने में लग गए 19 घंटे

बस्ती रेलवे स्टेशन के आउटर पर बुधवार की रात 10.05 बजे मालगाड़ी के छह डिब्बे (वैगन)पटरी से उतर गए। लोड होने के चलते तीन डिब्बे रेल ट्रैक पर ही पलट गए। डाउन ट्रैक बाधित होने के साथ रेल संचलन पर काफी असर पड़ा। हादसे की वजह स्पष्ट नहीं है। बहरहाल मालगाड़ी को सीधा और रेल ट्रैक दुरूस्त करने में 19 घंटे से अधिक समय लग गए। गुरुवार की शाम छह बजे के बाद डाउन ट्रैक सही करने के बाद पहली गाड़ी वैशाली सुपरफास्ट को कासन पर चलाया गया।
loading...
मध्य प्रदेश के रीवा से सीमेंट लेकर बस्ती आ रही मालगाड़ी आउटर सिग्नल पर ही 15 जनवरी की रात में गंतव्य तक पहुंचते पहुंचते डिरेल हो गई। चालक और गार्ड जब तक कुछ समझ पाते छह डिब्बे पटरी से उतर गए। तीन डिब्बों के पलटने के बाद हुई तेज आवाज से स्टेशन तक पर मौजूद लोग सहम गए। आनन फानन में इसकी सूचना रेल अधिकारियों को दी गई। रात में ही दुर्घटना स्थल पर अधिकारी,कर्मचारी व इंजीनियङ्क्षरग विभाग की टीम पहुंच गई। रेस्क्यू के लिए गोरखपुर व गोंडा से एआरटी टीम महाबली क्रेन के साथ पहुंची। इलेक्ट्रिक लाइन काटा गया। बचाव कार्य रात में ही एक बजे शुरू हो गया। 

पूरी रात काम चला। तेजी गुुरुवार की सुबह तब आई जब रेल अधिकारियों के आने की सूचना फैली। दूसरे दिन यानी 16 जनवरी की शाम छह बजे तक युद्धस्तर पर कार्य कर इंजीनियरिंग विभाग की टीम ने क्षतिग्रस्त रेल ट्रैक को सही कर दिया। डाउन ट्रैक क्षतिग्रस्त होने के चलते डेढ़ दर्जन ट्रेनें प्रभावित रहीं। डाउन ट्रेनों को गोंविदनगर रेलवे स्टेशन से ओड़वारा तक अप ट्रैक से कासन पर पास कराया गया। दो सवारी गाडिय़ों का संचलन रद्द कर दिया गया। कई ट्रेनों के रूट बदल दिए गए। डीआरएम डा. मोनिका अग्निहोत्री घटनास्थल पर शाम 4.35 बजे पहुंची। ट्रैक तत्काल बहाल कराने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया।