अपना लीवर देकर 19 साल के बेटे ने लंबे समय से बीमार पिता की बचा दिया जान

बीमार पिता के लिए जीवनदायक बनकर आया उनका 19 साल का बेटा। लीवर खराब होने के कारण गंभीर बीमारियों से जूझ रहे पिता को बेटे ने अपने एक लीवर का 65 फीसदी हिस्सा दे दिया। इस दान से पित-पुत्र के रिश्ते को एक नया अयाम मिला है। 47 वर्षीय पिता रंजीत कुंडू लीवर की समस्या से काफी जूझ रहे थे। इस दौरान डॉक्टरों ने लीवर प्रत्यारोपण कराने की बात कही। 
loading...
लेकिन कोई भी डोनर नहीं मिला। पिता के लीवर के लिए डोनर न मिलने पर रंजीत के बेटे राज ने लीवर दान करने की ठानी। हालांकि परिवार के अन्य सदस्यों ने मना कर दिया। क्योंकि उन्हें ऐसा लग रहा था कि छोटी उम्र में लीवर दान करने से आगे जाकर अलग-अलग तरह की शारीरिक समस्याएं हो सकती हैं पर राज ने घरवालों की बात नहीं मानी और अपने फैसले पर अडिग रहा।

बीते गुरुवार को एसएसकेएम अस्पताल में लीवर का प्रत्यारोपण किया गया। राज के लीवर का 65 फीसदी हिस्सा काटकर उसके पिता में प्रत्यारोपित किया गया। ऑपरेशन के बाद उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है। रंजीत उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट के रहने वाले हैं। वो पिछले डेढ़ साल से लीवर की समस्या से जूझ रहे थे।