फेसबुक फ्रेंड ‘मोना’ ने बुलाया तो 55 साल का शिक्षक उससे मिलने पहुंचा, फिर बहुत ही गजब हुआ

सोशल मीडिया पर दोस्ती कर शिक्षक हनी ट्रेप का शिकार हो गया। शिक्षक का पांच महीने पहले सीकर की युवती से दोस्ती हो गई। युवती ने उसे नव वर्ष पर मिलने बुलाया। बस स्टैंड से चार युवक उसका अपहरण कर ले गए। फिरौती के रूप में उससे 41 हजार रुपए मंगवा लिए। शिक्षक को सोजत पुलिस तलाश रही थी। इसके बाद उसे नवलगढ़ में पटककर अपहरणकर्ता भाग गए। बुधवार को शिक्षक को सोजत सिटी थाने पुलिस लेकर आई, तब शिक्षक ने यह कहानी बयां की।
अब पुलिस अपहरणकर्ताओं व महिला की तलाश में जुटी है। सोजत एसएचओ भाटी ने बताया कि लडक़ी की फेसबुक डिटेल मंगवाई गई है। उन्होंने बताया कि सोजत के अटबड़ा गांव के शिक्षक भैराराम प्रजापत के अपहरण की पुलिस को सूचना मिली थी। मामला हनी ट्रेप का निकला। शिक्षक भैराराम पांच माह पूर्व फेसबुक पर एक फर्जी आइडी की लडक़ी से दोस्ती कर बैठे। वे सीकर उससे मिलने गए थे, वहां चार जनों ने उनका अपहरण कर 41 हजार रुपए फिरौती के रूप में मंगवा लिए।

रोज किया करते थे चैट

अटबड़ा निवासी भैराराम प्रजापत (55) को सोजत पुलिस का दल सीकर व नवलगढ़ पर घटनास्थल की तस्दीक करवाकर बुधवार को सोजत लौटा। यहां थाने में पूछताछ के दौरान शिक्षक ने खुलासा किया कि पांच माह पूर्व मोना नाम की लडक़ी से फेसबुक पर उनकी दोस्ती हुई। वे रोजाना उससे चैट करते थे। कई बार वाट्सएप पर बात भी हुई, लेकिन उन्होंने कभी वीडियो कॉल नहीं की। लडक़ी ने शिक्षक को नववर्ष पर मिलने के लिए सीकर बुलाया। इस पर शिक्षक घर से जयपुर मित्र से मिलने का कहकर निकले और सीकर पहुंच गए।