हरियाणा से लाई जा रही 8 लाख की शराब पकड़ी, एसएसपी ने प्रेस कांफ्रेंस में हड़का दिया दारोगा को

स्वाट टीम ने शुक्रवार की देर रात हरियाणा से बुलंदशहर लाई जा रही प्रतिबंधित शराब की 282 पेटियों को पकड़ा है। शराब की कीमत लगभग आठ लाख बताई जा रही है। शराब के साथ एक आरोपित को भी पकड़ा है। जबकि मुख्य आरोपित फरार बताया गया है। पीसी के दौरान केस में शराब माफिया का नाम शामिल नहीं करने पर एसएसपी ने दारोगा को आड़े हाथ लिया।
loading...
एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि उनकी स्वाट टीम को शुक्रवार की देर रात सूचना मिली की शिकारपुर क्षेत्र के खुर्जा रोड काली नदी पुल से एक शराब का टैंकर गुजरने वाला है। जिसके बाद टीम ने मौके पर पहुंचकर शराब के टैंकर को पकड़ लिया। शराब का टैंकर तहसील पठान पुत्र महबूब निवासी लद्धावाला थाना नई मंडी मुजफ्फरनगर चला रहा था। पूछताछ में तहसीन ने बताया कि वह सोनीपत के हरियाणा से शराब लेकर आया है और उसे स्याना निवासी अजीत, सुमित और अमित के स्‍याना स्थित गोदाम पर उतारना था। मूल रूप से मुरादाबाद का रहने वाला अमित शराब माफिया बताया गया है।

हैरत की बात यह है कि मुकदमे में अमित का ही नाम नहीं है। यह जानकारी एसएसपी को हुई तो उन्होंने भरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्वाट टीम प्रभारी और अजयदीप दारोगा को आड़े हाथ लिया और निर्देश दिए कि शराब माफिया अमित का नाम मुकदमे में दर्ज किया जाए। एसएसपी ने बताया कि अमित का नाम क्यों मुकदमे में दर्ज नहीं हुआ यह जांच की जाएगी और इसके बाद संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।