मरीज बनकर डॉक्टर से लूटपाट करने वाला बदमाश को किया गया गिरफ्तार, चार माह से चल रहा था फरार

मुजफ्फरनगर में पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान एक 25 हजार के इनामी बदमाश को धर दबोचा। पुलिस की गोली लगने से बदमाश घायल हो गया, जिसे खतौली सीएचसी में भर्ती कराया गया। जबकि उसका साथी फरार होने में कामयाब हो गया। पकड़ा गया बदमाश चार माह पूर्व जौहरा रोड पर भैंसी निवासी डॉक्टर से की गई लूट के मामले में वांछित था। बता दें कि शुक्रवार शाम लगभग साढ़े पांच बजे मंसूरपुर एसओ मनोज चाहल पुलिस के साथ दिल्ली-देहरादून नेशनल हाईवे-58 पर गांव बेगराजपुर स्थित रिलायंस पेट्रोल पंप के पास चेकिंग कर रहे थे। 
loading...
इसी दौरान बाइक सवार दो युवक पुलिस को देखकर पास के बाग में घुस गए। युवकों को संदिग्ध मानते हुए पुलिस बाग में पहुंची तो बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। इसी दौरान बदमाशों की बाइक बारिश के चलते बाग में हुई कीचड़ में फिसलकर गिर गई, जिसे वहीं छोड़कर बदमाश पुलिस पर फायरिंग करते हुए पैदल ही ईख के खेत की तरफ भागने लगे। पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक बदमाश पैर में गोली लगने से घायल हो गया, जिसे पुलिस ने दबोच लिया। जबकि उसका साथी ईख के खेत में घुसकर फरार हो गया। 

सूचना पर सीओ खतौली आशीष प्रताप सिंह भी मौके पर पहुंचे। एसओ मनोज चाहल ने बताया कि गिरफ्तार किया गया बदमाश साकिब पुत्र इदरीश गांव शेरनगर, नई मंडी कोतवाली क्षेत्र का रहने वाला है, जिस पर नई मंडी कोतवाली से ही 25 हजार रुपये का इनाम घोषित है। एसओ ने बताया कि साकिब नई मंडी कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर भी है, जिसके खिलाफ कई थानों में 20 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। मौके से बदमाशों की बाइक, तमंचा, कारतूस बरामद किए गए हैं। घायल बदमाश को खतौली सीएचसी में भर्ती कराया गया है, जबकि उसके फरार साथी की तलाश की जा रही है।

एसओ मनोज चाहल ने बताया कि मुठभेड़ में पकड़े गए बदमाश साकिब ने अपने दो साथियों के साथ करीब चार माह पूर्व जौहरा रोड पर क्लीनिक चलाने वाले भैंसी निवासी डॉक्टर राजकुमार से लूटपाट की थी। लुटेरे मरीज बनकर डॉक्टर के क्लीनिक पर पहुंचे थे और उनसे लूटपाट कर भाग गए थे। जांच के दौरान साकिब एवं उसके साथियों का नाम सामने आया था।