शुक्लागंज में मिला मेडिकल छात्रा का शव, क्यों किया उसने आत्महत्या...ये बना सवाल

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस अंतिम वर्ष की छात्रा अमृता सिंह का शव गंगाघाट में बरामद हो गया है. गंगाघाट पुलिस ने इसकी जानकारी कानपुर पुलिस को दी है. इसके बाद पुलिस गंगाघाट पहुंच गई. वहीं, अपनी साथी का शव न मिलने पर दोपहर में मेडिकल छात्रों ने गंगा बैराज पहुंचकर हंगामा किया. इस दौरान छात्रों ने गंगा बैराज की एक लेन पर जाम भी लगा दिया.
loading...
जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस अंतिम वर्ष की छात्रा अमृता सिंह गुरूवार को संदिग्ध हालत में लापता हो गई थी. छात्रा की स्कूटी गंगा बैराज पर लावारिस हालत में खड़ी मिली थी. अमृता की स्कूटी में चाभी लगी होने के साथ उसमें पर्स और मोबाइल भी रखा था. गंगा में कूदने की आशंका को लेकर पुलिस गुरूवार से ही गोताखोरों से तलाश करा रही थी. बताया जा रहा है कि शाम को गंगाघाट पुलिस केा मेडिकल छात्रा का शव मिला है. बताया जा रहा है कि मेडिकल छात्रा का शव शुक्लागंज में रविदासनगर, कटरी के बहादुर बगिया में मिला है. 

गंगाघाट पुलिस ने इसकी जानकारी कानपुर पुलिस को दी तो स्वरूपनगर और कोहना पुलिस वहां पहुंची. छात्रा ने आत्महत्या क्यों की, अभी तक इसकी साफ वजह निकलकर सामने नहीं आ पायी है. छात्रा का शव बरामद होने के बाद पुलिस अब ​सभी बिंदुओं पर पड़ताल करने की बात कर रही है. इससे पहले दोपहर में मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने गंगा बैराज पर हंगामा किया. छात्र अपनी साथी की तलाश को लेकर परेशान थे. मेडिकल कॉलेज प्रशासन पर भी लापरवाही का आरोप लगाया गया. इसको लेकर छात्र काफी आक्रोशित नजर आए. इसे देखते हुए मौके पर पुलिस बल भी पहुंचा था. वहीं पुलिस अमृता के मोबाइल की सीडीआर निकालकर तहकीकात कर रही है.