सास और ससुर से नहीं देखा गया बहू का अकेलापन, बेटे की मौत के बाद फिर से बना दिया उसे दुल्हन

भारतीय लड़कियो के मन में सास-ससुर की छवि को लेकर बहुत सी धारणाएं होती है। लेकिन हिमाचल में एक सास-ससुर ने अपनी विधवा के जीवन में खुशहाली लाने के लिए ऐसी मिसाल पेश की है। जिसकी हर कोई तारीफ कर रहा है। दरअसल, मंडी जिले के सरकाघाट के बुजुर्ग संतोषी देवी और ब्रह्मदास ने अपनी 31 साल की विधवा बहू की दूसरे युवक से शादी करवा दी। 
loading...
यही नहीं सास-ससुर ने बहू को बेटी मानकर उसका शुक्रवार के दिन कन्यादान भी किया। बुजुर्ग दंपति की इस दरियादिली से हर कोई सलाम कर रहा है। बता दें कि ब्रह्मदास ने डेढ़ साल पहले एक सड़क हादसे में अपने बेटे को खो दिया था। 

जिसके बाद से उनकी बहू चुपचाप रहने लगी थी। लेकिन बुजुर्ग दंपति को उसका अकेला पन नहीं देखा गया और उन्होंने उसकी फिर से शादी कराने का सोचा। वह कहते हैं कि जो विधाता को मंजूर था वो उसने किया। अब हम क्यों इस बेटी की जिंदगी बर्बाद करें।