जमीन के लिए भतीजे ने अपनी बड़ी मां को उतारा दिया मौत के घाट...

रहटगांव थाने के गांव मगरधा में गत 1 जनवरी की सुबह घर के आंगन में झाडू़ लगा रही रेखाबाई गौर की अज्ञात युवक ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार किए गए आरोपियों में मुख्य आरोपी मृतका का भतीजा ही निकला। पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में आरोपी ने 9 एकड़ जमीन के लिए बड़ी मां की हत्या करना कबूला। गुरुवार को पुलिस कंट्रोल रूम में एसपी भगवतसिंह विरदे ने हत्या करने वाला आरोपी श्यामसुंदर गौर (22 वर्ष) और व अपराध में सहयोग करने वाले उसके पिता सुदामा पिता गिरधारीलाल गौर (48 वर्ष) के गिरफ्तार होने की जानकारी मीडिया को दी। वहीं किस तरह से महिला की हत्या का षडय़ंत्र रचा गया था इसका पर्दाफाश किया। आरोपी का सुराग नहीं लगने पर पुलिस ने उस पर 10 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था। 

बाप-बेटे ने मिलकर रचा था हत्या का षडय़ंत्र

जानकारी के अनुसार वर्ष 2017 से मगरधा के सुदामा गौर एवं उसके बड़े भाई बलराम गौर की दूसरी पत्नी मृतका रेखाबाई गौर का 9 एकड़ जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। बलराम की कोई संतान नहीं थी। किंतु बाद में बलराम की मृत्यु होने पर आरोपी श्यामसुंदर गौर ने वसीयतनामा के आधार पर उक्त जमीन अपने नाम करा ली थी। जब इस संबंध में महिला को पता चला तो उसने न्यायालय की शरण ली थी, जिसमें मृतिका के पक्ष में न्यायालय ने फैसला सुनाया था। 

किंतु इसके बावजूद आरोपी श्यामसुंदर और सुदामा मृतका को जमीन नहीं देने के लिए अड़े हुए थे। कई बार उन्होंने समाज के लोगों को बुलाकर समझौता चाहा था, लेकिन समझौता नहीं हुआ था। जिस पर बाप-बेटे ने मिलकर रेखाबाई को रास्ते से हटाने की योजना बनाई थी। इसके बाद आरोपी श्यामसुंदर ने नकाबपोश बनकर उसकी हत्या कर दी थी। घटना के बाद से ही पिता-पुत्र फरार थे। रेखाबाई गौर की हत्या के बाद सूचनाकर्ता संतोष पिता रामरतन गौर निवासी झाड़बीड़ा की रिपोर्ट पर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ धारा 302 भादवि का मामला दर्ज किया था।