फेसबुक पर लिखा मक्‍का में बनेगा राम मंदिर, और फिर सऊदी अरब में भारतीय हरीश के साथ जो हुआ जानें...

सऊदी अरब में कर्नाटक के एक व्‍यक्ति को फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्‍ट लिखने के चलते गिरफ्तार कर लिया गया है। इस व्‍यक्ति की गिरफ्तारी के बाद भारत के विदेश मंत्रालय की तरफ से सऊदी अथॉरिटीज से स्‍पष्‍टीकरण भी मांगा गया है। इस व्‍यक्ति का नाम हरीश बांगेरा है और यह तटीय कर्नाटक के कुंदापुर का रहने वाला है। इन सबके बीच हरीश का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें उन्‍हें अपने मुसलमान भाईयों से माफी मांगते हुए देखा जा सकता है।
हरीश, सऊदी कंपनी दम्‍माम के साथ काम करते थे और बतौर एसी मैकेनिक कंपनी के साथ जुड़े हुए थे। उन्‍होंने अपनी फेसबुक प्रोफाइल पर पिछले दिनों लिखा था कि मक्‍का में भी एक राम मंदिर का निर्माण होगा। गौरतलब है कि मक्‍का दुनियाभर के मुसलमानों के लिए एक पवित्र जगह है। रविवार को इस पोस्‍ट के बाद उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया था। सोमवार की सुबह उनका फेसबुक अकाउंट डिलीट कर दिया गया। बताया जा रहा है कि अपनी प्रोफाइल से उन्‍होंने सऊदी शाही परिवार के कुछ सदस्‍यों के लिए भी अपशब्‍दों का प्रयोग किया था।
कुछ लोगों का कहना है कि यह फेसबुक अकाउंट जिस पर इस तरह का मैसेज पोस्‍ट हुआ है वह 20 दिसंबर से ही ऑपरेट होना शुरू हुआ है। वहीं यह भी कहा जा रहा है कि हरीश का एक और फेसबुक अकाउंट भी है जो पिछले कई वर्षों से वह यूज कर रहे हैं। इस अकाउंट पर वह अक्‍सर अपने परिवार, दोस्‍तों और फुटबॉल के बारे में मैसेजेज पोस्‍ट करते रहते हैं। उनके करीबियों की मानें तो दूसरा अकाउंट इस वजह से ही बनाया गया था ताकि उन्‍हें मुश्किल में डाला जा सके।

कर्नाटक सरकार की ओर से बताया गया है कि विदेश मंत्रालय को इस बारे में जानकारी दे दी गई है और वह लगातार मामले पर अपनी नजर बनाए हुए है। वेबसाइट द न्‍यूज मिनट ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि रियाद में भारतीय दूतावास में तैनात सेकेंड सेक्रेटरी असीम अनवर ने इस स्थिति का जायजा लिया है। वह इस मामले पर देशबंधु भाटी जो कि कम्‍युनिटी वेलफेयर, काउंसलर हैं, उनके साथ चर्चा कर रहे हैं। भाटी इस बारे में भारत के राजदूत औसफ सईद को पूरी जानकारी देंगे। भाटी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि दूतावास ने इस मामले का संज्ञान लिया है और हरीश को हर संभव मदद मुहैया कराई जाएगी।
हालांकि अभी तक इस बात की पूरी जानकारी नहीं मिल सकी है कि हरीश को गिरफ्तार किया गया है या सिर्फ हिरासत में लिया गया है। भारतीय दूतावास की तरफ से बताया गया है कि उन्‍होंने रियाद में स्थित विदेश विभाग से इस बात की पुष्टि करने के लिए कहा गया है कि हरीश बंगेरा को वाकई में गिरफ्तार किया गया है या नहीं। अभी तक अधिकारियों की तरफ से इस बारे में कोई भी पुष्‍ट जानकारी नहीं दी गई है। भारत में उनके परिवार या फिर रिश्तेदार के साथ संपर्क करने की कोशिशें की जा रही हैं। अधिकारियों की मानें तो जैसे ही उन्‍हें स्थिति के बारे में और ज्‍यादा जानकारी मिलेगी परिवार को इस बारे में बताया जाएगा।