साहब पूरी आमदनी टोल पर हो गया खत्म, कैसे पालेंगे परिवार

डीएम कार्यालय के सामने प्रदर्शन करते मैजिक चालक।
कानपुर देहात। मैजिक वाहन चालक सोमवार को हड़ताल पर रहे। बाद में माती मुख्यालय स्थित डीएम दफ्तर मैजिक वाहन लेकर पहुंचे चालकों ने मासिक पास रियायती दरों में बनवाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। कानपुर से पुखरायां व सिकंदरा रूट पर चलने वाले मैजिक वाहनों के चालक सोमवार को हड़ताल पर रहे। सोमवार को सौ चालक अपनी गाड़ी लेकर मुख्यालय पहुंचे। गोविंद त्रिवेदी, धीरेंद्र कुमार, महेंद्र, अंकित सिंह, दीपू दुबे, सौरभ तिवारी, हरिओम मिश्रा, राम विलास ने बताया कि अभी तक टोल पर 24 घंटे के लिए 220 रुपये चुकाने पड़ते थे। 
loading...
अब मैजिक वाहनों को फास्टैग लेन से निकलने के लिए प्रति दिन पहली बार निकलने में 140 रुपये इसके बाद हर चक्कर पर 70 रुपये का टोल देना पड़ेगा। वहीं पांच सौ रुपये फास्टैग लगवाने के लिए देना है। फास्टैग न लगाने पर उन्हें कैश देने वाले वाहनों के लिए निर्धारित एक लेन से निकाला जाता है। इस लेन में वाहनों की लाइन लगी रहती है। इससे मैजिक गाडियां जाम में फंस जाती है। इनमें बैठी सवारियों को घंटों टोल पर ही खड़े रहना पड़ता है। 

मैजिक चालकों का समय भी बर्बाद होता है। उनकी आमदनी प्रभावित होती है। चालकों ने डीएम ने मांग की प्रति माह एक हजार से लेकर अधिकतम 15 सौ रुपये तक मासिक पास बनवा दिया जाए। उन्हें फास्टैग लेन से निकलने की व्यवस्था की जाए। इसके पहले 18 जनवरी को डीएम के माध्यम से मैजिक चालक केंद्रीय परिवहन मंत्री को पत्र भेज चुके हैं। डीएम ने एसडीएम अकबरपुर को टोल प्रबंधन व मैजिक चालकों के बीच वार्ता कराकर समस्या का समाधान कराने के निर्देश दिए हैं।