पटना से अगवा किया गया था कारोबारी मुंगेर से हुआ बरामद, इस तरह हुआ खुलासा

बीते बुधवार से लापता चल रहे पटना के पान दुकानदार दीपक कुमार को शुक्रवार को मुंगेर से बरामद कर लिया गया। दीपक के अगवा किए जाने की शिकायत उनके परिजनों ने पुलिस से की थी। बताया जाता है कि दीपक की फिरौती के लिए उनके परिजन से 10 लाख रुपए मांगे गए थे। शुक्रवार की देर रात पटना और मुंगेर पुलिस ने असरगंज थाना क्षेत्र के पुरुषोत्तम चौरगांव से दीपक को बरामद किया। पुलिस ने अपहृत दीपक कुमार के साथ दो अपहृतकर्ताओं को भी गिरफ्तार किया है।
जानकारी के अनुसार मोबाइल लोकेशन के आधार पर पटना के जक्कनपुर पुलिस इंस्पेक्टर मुकेश वर्मा शुक्रवार को असरगंज थाना पहुँचे एवं असरगंज थाना पुलिस के सहयोग से थाना क्षेत्र के पुरुषोत्तमपुर चौरगांव स्थित राजेन्द्र प्रसाद के घर पर छापेमारी कर उनके घर से अपहृत दीपक कुमार एवं अपहृतकर्ता तारापुर के नवटोलिया गांव निवासी सोनू कुमार एवं उसके भाई राजा कुमार को गिरफ्तार कर लिया। वही एक अन्य संदिग्ध बांका जिला के रामपुर थाना क्षेत्र के आशीष कुमार को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया।

अपहृत दीपक, दो अपहरणकर्ता एवं हिरासत में लिए गए आशीष को पटना पुलिस अपने साथ जक्कनपुर थाना ले गई।  मामले में पुलिस इंस्पेक्टर मुकेश वर्मा ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने अपहृत दीपक कुमार को नौकरी देने के नाम पर अगवा कर फिरौती की मांग कर रहा था। जिसको लेकर अपहृत के परिजन ने बीते 3 जनवरी को जक्कनपुर थाना में अपहरण कर 10 लाख रुपये की फिरौती मांगने का मामला दर्ज कराया था। वही असरगंज थानाध्यक्ष जयप्रकाश सिंह ने बताया की अपहरणकर्ता नवटोलिया निवासी सोनू कुमार एवं रजा कुमार ने दीपक कुमार को अपने नाना राजेंद्र प्रसाद यादव के सुनसान घर में रखा था जिसको वहाँ से गिरफ्तार कर जक्कनपुर थाना को दिया गया।