कार में सवार दो सगे भाईयों व चाचा और भतीजे सहित आठ युवकों की हो गई मौत

एनएच 11 राजलदेसर से करीब छह किमी परसनेऊ की ओर गुरुवार सुबह नौ बजे एक निजी बस व मारूती वैन में हुई आमने-सामने की टक्कर में दो सगे भाई व चाचा भतीजा सहित वैन में सवार आठ युवा काल का ग्रास  बन गए । हादसे में सभी मृतक बीकानेर के रहने वाले थे। जो कि बुधवार शाम मृतक सफीक के बड़े भाई रफीक की 19 जनवरी को होने वाली शादी के लिए वैन में सवार होकर संबंधियों को निमंत्रण पत्र देकर गुरुवार को सुबह रतनगढ़ से बीकानेर वापस जा रहे थे। शादी को लेकर परिवार के लोग रिश्तेदार व पड़ौसी शादी की तैयारियों में व्यस्त थे। 
हादसे का समाचार सुनकर मातम फैल गया। हादसे में एक साथ आठ युवाओं की मौत की सूचना पर बीकानेर रेंज के कार्यवाहक आईजी प्रदीप मोहन शर्मा, जिला कलक्टर संदेश नायक, एसपी तेजस्वनी गौतम, एएसपी सीताराम महिच सीआई भुपेन्द्र सोनी ने सीएचसी पहुंचकर मृतकों के परिजनों को सांत्वना दी। जानकारी अनुसार गुरूवार सुबह मोमासर से रामगढ़ जाने वाली एक निजी बस मोमासर की ओर से राजलदेसर आ रही थी। 

मारूती वैन रतनगढ से बीकानेर की ओर जा रही थी कि एनएच ग्यारह पर दोनों वाहनों की आमने-सामने टक्कर हो गई । टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि वैन के परखचे उड़ गए । वैन में सवार बीकानेर निवासी आठ युवाओं की मौके पर ही मौत हो गई । दुर्घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तथा आसपास के खेतों में काम कर रहे लोगों के सहयोग से निजी वाहनों से मृतकों को राजलदेसर सीएचसी पहुंचाया। बस में सवार किसी भी यात्री के हताहत होने का समाचार नहीं है।

सभी की उम्र 22 से 26 के बीच 

एसएचओ सुरेन्द्र राणा के मुताबिक दुर्घटना में मृत सभी युवक 22 से 26 वर्ष की उम्र के बताए गए । ये युवा बुधवार शाम मृतक सफीक के बड़े भाई रफीक की 19 जनवरी को होने वाली शादी के लिए वैन में सवार होकर संबंधियों को निमंत्रण पत्र देनें गए थे जो गुरुवार सुबह रतनगढ से बीकानेर वापस जा रहे थे।