मौसी के घर नहीं मिला सम्मान तो बना डाली घर में डकैती करने की पूरी योजना और फिर...

24-25 दिसंबर की रात ग्राम बिनेका निवासी ठेकेदार हटेसिंह नायक के घर पूरे परिवार को बंधक बनाकर डकैती की बारदात को अंजाम देने वाले सात में से पांच आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। शनिवार को एसपी कार्यालय में प्रेसवार्ता करते हुए एसपी मोनिका शुक्ला ने डकैती की सनसनीखेज बारदात का खुलासा किया। एसपी ने बताया कि डकैती की बारदात की योजना दो सगे भाई रायसेन के पास ग्राम डाबरा इमलिया निवाासी 25 वर्षीय सोनू और 27 वर्षीय गोलू पुत्र सुखराम बंजारा ने बनाई थी। दोनो ने अपने साथियों को एकत्र कर 25 दिसंबर की रात बारदात को अंजाम दिया था।

मंशानुसार सम्मान नहीं मिला था
एसपी ने बताया कि पूछताछ में गोलू और सोनू ने बताया कि बिनेका निवासी हटेसिंह इनका मौसा है, जिसके घर जाने पर कभी सोनू को उसकी मंशानुसार सम्मान नहीं मिला था। जिससे नाराज होकर उसने अपनी मौसी के घर डकैती की योजना बनाई और साथियों के साथ उसे अंजाम दिया था। बारदात को अंजाम देने गए गोलू, सोनू ने हटेसिंह नायक के पुत्र अपने मौसेरे भाई अनिकेत को उसका नाम लेकर बुलाया था। यही एकमात्र सुराग पुलिस को आरोपियों तक पहुंचने का जरिया बनी।

इसके अलावा आरोपियों ने कोई सुराग नहीं छोड़ा था। वे अपने साथ नगदी, सोना, चांदी सहित लेपटॉप, सीसीटीवी कैमरे, डीवीडी आदि भी ले गए थे। नाम लेकर अनिकेत को बुलाने के आधार पर पुलिस ने हटेसिंह परिवार के संबंधियों पर नजर रखी और जानकारी हासिल जुटाई। जिसमें पता चला कि बारदात के पहले दो दिन तक सोनू बंजारा बिनेका में हटेसिंह के घर के आस-पास दिखाई दिया था।

इसी आधार पर उसे उसके भाई के साथ गांव डाबरा इमलिया से उठाकर पूछताछ की। जिसमें उसने डकैती की बारदात को अंजाम देना स्वीकार किया। सोनू, गोलू के बताए अनुसार पुलिस ने 33 वर्षीय विनोद पुत्र काशीराम बैरागी निवासी ग्यारसाबाद हाल निवासी निवासी रायसेन, 21 वर्षीय रोहन पुत्र संतराम चौधरी निवासी साकेत नगर भोपाल, 25 वर्षीय दिनेश पुत्र किशनलाल, निवासी जाटखेड़ी भोपाल को गिरफ्तार किया है। जबकि बासिद खान और इमरान खान की तलाश की जा रही है।