जिस बाबा की हत्‍या में साध्‍वी गई जेल, उसे जिंदा देखकर पुलिस की फटी रह गईं आखें, जानें मामला

बिहार पुलिस जिस बाबा को अब तक मृत समझ रहा था, वह जिंदा निकला। युवक को जिंदा देख पुलिस की आंखें फटी की फटी रह गईं। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार बाबा यूपी का रहनेवाला है। खास बात कि उस बाबा की कथित हत्‍या के मामले में शेखुपरा की एक साध्‍वी को आठ माह तक जेल में रहना पड़ा है। अब पुलिस की जांच पर ही सवाल उठने लगे हैं। हालांकि, पुलिस इस मामले पर कुछ भी कहने से बचना चाह रही है।    
loading...
दरअसल, बिहार के शेखपुरा में गुरुवार को उस समय अफरातफरी मच गई, जब पटेल चौक पर कुछ साध्वियों ने एक साधु भेषधारी तपस्यानंद बाबा नामक व्यक्ति को पकड़ लिया और उसे पुलिस के हवाले कर दिया। बाद में छानबीन के दौरान तपस्यानंद की पहचान यूपी के बस्‍ती निवासी श्याम चंद्र चौधरी के रूप में हुई। श्‍याम चंद्र की हत्‍या के मामले में साध्वी को जेल काटनी पड़ी है। श्‍यामचंद्र को पकड़ कर पुलिस के हवाले करनेवाली सभी साध्वी नवादा जिले के ककोलत में संचालित सनातन आश्रम की। मौके पर साध्वी ने बताया कि 2018 में नवादा के ककोलत के पास संचालित उनके आश्रम में साध्वी के साथ तपस्यानंद उर्फ श्याम चंद्र चौधरी के द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया था। इस दुष्कर्म के बाद तपस्यानंद सहित कई आरोपी को नामजद अभियुक्त बनाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। इस मामले में तपस्यानंद फरार चल रहा था।

वहीं, कुछ माह के बाद तपस्यानंद की मां कमलावती ने थाने में उनके पुत्र श्‍याम चंद्र की हत्या किए जाने की प्राथमिकी दर्ज करा दी गई। इसके बाद उन लोगों की गिरफ्तारी हुई और वे लोग जेल में भी रहीं। आज जब वे शेखपुरा में दो माह पहले हुए दुष्कर्म के मामले में पुलिस से संपर्क करने के लिए आ रही थीं, तो ये लोग नवादा के गोविंदपुर से ही पीछा करते हुए आये और पटेल चौक पर दुष्कर्म की पीड़िता साध्वी को अपने साथ ले जाने लगा। इस पर हम लोगों ने शोर मचाया, तब काफी संख्‍या में स्थानीय लोग जुट गए और तपस्यानंद को पकड़ कर हमलोगों ने पुलिस के हवाले किया।

हालांकि, तपस्‍यानंद उर्फ श्‍याम चंद्र के साथी हथियार लहराते हुए वहां से भाग खड़े हुए। पुलिस के अनुसार, थाने में ही तपस्‍यानंद की पहचान श्याम चंद्र चौधरी के रूप में की गई। वह उत्तर प्रदेश के बस्ती जिला अंतर्गत लालगंज थाना क्षेत्र के सेमरा गांव का रहनेवाला है। बता दें कि दो माह पूर्व शेखपुरा के फूलचोर गांव में नवादा के साध्वी का अपहरण कर एक पुराने भवन में सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया था, जिसकी प्राथमिकी शेखपुरा के महिला थाना में दर्ज कराई गई थी। इसी मामले की जानकारी लेने सभी साध्वी शेखपुरा आ रही थीं।