आपसी झगड़े के बाद ननद और भाभी ने जो किया जानकर हैरान होंगे आप...

रतलाम जिले के ताल थाने के गांव काजाखेड़ी में परिवार में ननद और भोजाई के झगड़े में ननद ने फंदे पर लटक कर जान दे दी तो उसी दौरान भाभी ने खुद को आग के हवाले कर लिया। आग से झुलसी भोजाई को 90 फीसदी से ज्यादा जली अवस्था में आलोट से जावरा सिविल अस्पताल रैफर किया गया था जिसकी इलाज के दौरान गुरुवार रात मौत हो गई। ननद का शाम को पोस्टमार्टम करके शव परिजनों को सौंप दिया गया। 
टीआई संगीता सोलंकी ने बताया काजाखेडी के शंकरलाल के परिवार में हादसा हुआ है। वह पत्नी और दोनों बेटों के साथ खेत पर गया था। दोपहर में घर लौटा तो दरवाजा बंद था। छत पर चढ़कर पतरे से होते हुए घर में देखा तो बेटी जसोदा (22) फंदे पर लटकी हुई थी। इसी दौरान बेटा शंभूलाल को उसकी पत्नी मंजू (30) के आग लगा लेने की सूचना मिली। शंकरलाल ने बताया बेटी जसोदा और बहू मंजू के बीच दो दिन पहले घांस को छोटा-बड़ा काटने को लेकर विवाद हुआ था।
टीआई सोलंकी ने बताया कि सूचना मिली थी कि एक महिला ने आत्महत्या के लिए खुद पर केरोसीन डाल लिया है। पास में रहने वाली इसकी नदद ने भी आत्महत्या कर ली है। पुलिस अस्पताल पहुंची तो घटनाक्रम का पता चला। पुलिस के पहुंचने से पहले परिजन दोनों को अस्पताल ले जा चुके थे। जहां जसोदा को मृत घोषित कर दिया।