मेवात डिपो के रोडवेज चालक इस मामले में निकले नंबर वन, दिया गया ईनाम

मेवात डिपो के चालक पूरे हरियाणा में ईंधन बचाने में नंबर वन पर आए हैं। पेट्रोलियम एवं गैस मंत्रालय भारत सरकार की सर्वे में हरियाणा रोडवेज नूंह को चलाने वाले चालक ईंधन बचाने में पूरे प्रदेश में नंबर वन रहे हैं। चालकों को इस उपलब्धि के लिए 50 हजार का नकद इनाम शील्ड व प्रशंसा पत्र दिया गया है। प्रदेशभर में ईंधन बचाने में नंबर वन आने पर नूंह डिपो में खुशी का माहौल है।
loading...
जीएम प्रदीप अहलावत ने इस उपलब्धि के लिए अपने चालकों को मुबारकबाद दी है, जिनकी वजह से यह मुकाम हासिल हुआ है । यह आलम तब है, जब रोडवेज नूंह के पास अच्छे दर्जे की बसें नहीं हैं। अधिकतर बसें तो परिचालकों की कमी व पुरानी होने के चलते रोड पर चलने लायक नहीं हैं। जीएम प्रदीप अहलावत ने बताया कि पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ के द्वारा कराए गए सर्वे में नूंह रोडवेज के चालक बसों की एवरेज के मामले में सबसे अव्वल रहे हैं।

उन्होंने बताया की गत 16 जनवरी को पानीपत रिफाइनरी में आयोजित कार्यक्रम में यह पुरस्कार दिया गया है। नूंह डिपो में कुल 89 बसें हैं, जिनमें से करीब 75 बस सड़क पर दौड़ रही हैं। कुछ बस चालकों की कमी की वजह से नहीं चल पा रही हैं। नई बसों से लेकर वॉल्वो बसों से लैस डिपो को भी यहां के चालकों के हुनर ने पीछे छोड़ दिया है।