मोबाइल चार्जर से पत्नी के साथ किया ऐसा गलत काम और फिर ट्रेन के आगे कूदकर पति ने दी जान

राजीव कालोनी सेक्टर-17 में एक युवक ने पहले पत्नी की हत्या की फिर खुद भी ट्रेन से कटकर जान दे दी। युवक मेरठ निवासी फैजान था। पुलिस के मुताबिक, वह अपनी पत्नी शब्बा खैर के चरित्र पर शक करता था। पुलिस के मुताबिक, मेरठ निवासी फैजान अपनी पत्नी शब्बा खैर के साथ काफी समय से झुग्गी नंबर 1588 में रह रहा था। उसे शक था कि उसकी पत्नी के किसी से संबंध हैं। गुरुवार सुबह दोनों में इसी बात को लेकर खूब झगड़ा हुआ। तैश में आकर फैजान ने मोबाइल चार्जर की लीड से पत्नी को गला घोंटकर मार दिया। इसके बाद वहां से निकल गया। 
loading...
सुबह करीब दस बजे पड़ोसी झुग्गी में गया तो उसने शब्बा खैर का शव पड़ा देखा। उसने सेक्टर-16 पुलिस चौकी को सूचना दी। तुरंत पुलिसकर्मी झुग्गी में पहुंचे। फोरेंसिक एक्सपर्ट से भी घटनास्थल का मुआयना करवाया गया। पुलिस ने झुग्गी से चार्जर और अन्य चीजों को कब्जे में ले लिया है। अभी पुलिस जांच कर ही रही थी कि सूचना मिली, फैजान ने भी ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली है। बहरहाल, पुलिस ने हत्या की धारा के तहत केस दर्जकर मृतकों के शव मॉर्चरी में रखवा दिए हैं। 

शुरुआती पुलिस जांच के मुताबिक फैजान पत्नी के चरित्र पर शक करता था। इसी कारण उसने पत्नी की हत्या कर खुदकुशी कर ली। अपनी पत्नी की हत्या के बाद फैजान ने अपनी जान देने का पक्का इरादा कर लिया था। यही वजह थी कि वह सीधे रेलवे ट्रैक पर पहुंचा और ट्रेन का इंतजार करने लगा। करीब 10:30 बजे लखनऊ से चंडीगढ़ सद्भावना एक्सप्रेस ट्रैक पर आ रही थी। ट्रेन जैसे ही सुंदर नगर रेलवे लाइन के पास पहुंची तो गति धीमी हो गई।

ड्राइवर ने ट्रैक पर युवक को खड़े देखा तो हॉर्न बजाते हुए ब्रेक लगा दिए। जब तक ट्रेन युवक के पास पहुंची तो उसकी स्पीड बेहद कम हो गई। यह देख फैजान दूसरे ट्रैक पर चला गया। इसके बाद जैसे ही ट्रेन की स्पीड बढ़ी तो फैजान दौड़ते हुए आया और ट्रेन के आगे कूद गया। इस बार ड्राइवर भी कुछ न कर सका। पैर कटने के कारण फैजान के शरीर से खून बहने लगा। उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।