नालंदा में अलग-अलग स्थानों पर दो लोगों की कर दी गई हत्या...

नालंदा में अलग-अलग स्थानों पर शनिवार की रात बदमाशों ने तीन लोगों को गोली मार दी। हादसे में दो लोगों की मौत हो गयी। वहीं एक महिला को इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया गया है। मानपुर थाना क्षेत्र के गोंगड़ीपर गांव में घर में सो रहे बुजुर्ग दंपती को गोली मारी। इसमें पति की मौत हो गयी। जख्मी पत्नी का इलाज चल रहा है। इसी तरह, पावापुरी ओपी क्षेत्र के दुर्गापुर गांव के पास बदमाशों ने बाइक सवार युवक की लाश गिरा दी। मृत युवक छबिलापुर थाना क्षेत्र का रहने वाला था।
पावापुरी ओपी क्षेत्र के दुर्गापुर गांव के पास पूर्व की रंजिश में बदमाशों में गोली मारकर बाइक सवार छबिलापुर थाना क्षेत्र निवासी यशवंत यादव के 28 वर्षीय पुत्र संतोष कुमार उर्फ गोलू यादव की हत्या कर दी। मृतक के चचेरे भाई सुजीत कुमार ने भागकर अपनी जान बचायी। घटना केरुआ-दुर्गापुर नहर के बीचोबीच हुई है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करा परिजन को सौंप दिया है। हत्या का कारण बालू उठाव को लेकर हुआ विवाद बताया जा रहा है। इस मामले में पांच लोगों के खिलाफ एफआईआर करायी गयी है।

सुजीत ने बताया कि शनिवार की देर शाम गोलू के साथ बाइक पर सवार होकर मानपुर थाना क्षेत्र के मकदुआने गांव स्थित अपने ननिहाल से घर लौट रहा था। उसी दौरान चार बाइक पर सवार बदमाश उनका पीछा करने लगे। नहर के पास एक बुलेट पर सवार बदमाशों उनकी बाइक के आगे गाड़ी लगा दी और कहा कि गोली मार देंगे। यह सुनकर दोनों भाई खेत में भागे। बदमाशों ने खदेड़कर गोलू के पेट में गोली मार दी। सुजीत किसी तरह बच गया। बदमाशों ने कपड़े से अपना चेहरा ढक रखा था। बदमाशों के जाते ही सुजीत गोलू को इलाज के लिए लेकर सदर अस्पताल पहुंचा। 

यहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। सुजीत का कहना है कि छबिलापुर में गोलू बालू का कारोबार करता है। इसी वजह से कुछ लोगों से पहले से विवाद चल रहा था। इसी विवाद में हत्या की गयी है। घटना की जानकारी पाकर एसपी निलेश कुमार, डीएसपी सोमनाथ प्रसाद ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन की। ओपी प्रभारी प्रभा कुमार ने बताया कि गोलू अपराधी प्रवृति का था और कुछ दिन पहले ही जेल से छूटा था। मृतक के भाई मनीष कुमार ने पांच लोगों के खिलाफ एफआईआर करायी है। हालांकि, घटना का कारण सामने नहीं आया है। पुलिस अपराधियों की तलाश में जुट गयी है।