प्रेमी से शादी करने के लिए पति को उसने कुछ ऐसे रास्ते से हटा दिया, साजिश जानकर आप भी रह जाएंगे हैरान

आगरा की पंचशील कॉलोनी में बीएसएनएल के जूनियर टेलीकॉम ऑफिसर वीरेंद्र कुमार की हत्या उनकी पत्नी भावना ने अपने प्रेमी कपिल के साथ मिलकर की थी। घर में सोते समय गला दबाकर हत्या के बाद शव को कार से ले जाकर दीप इंटर कॉलेज के पास फेंक दिया था। पुलिस ने वीरेंद्र की पत्नी, उसके प्रेमी और प्रेमी के एक दोस्त को गिरफ्तार करके मंगलवार को जेल भेजा है। महिला ने प्रेमी से शादी और पति की प्रॉपर्टी को हासिल करने के लिए हत्याकांड की पूरी साजिश रची।
वीरेंद्र कुमार के बड़े भाई सुशील कुमार ने पुलिस को जानकारी दी थी कि शनिवार रात करीब एक बजे वीरेंद्र की पत्नी भावना का उनके पास फोन आया था। भावना ने कहा था कि किसी की कॉल आने पर वीरेंद्र घर से सात हजार रुपये लेकर गए हैं। एक घंटा हो गया, लेकिन वापस नहीं लौटे हैं। इस सूचना पर सुशील अपने बेटे प्रशांत और छोटे भाई नरेंद्र के साथ वीरेंद्र की तलाश के लिए निकले। सुशील के अनुसार, करीब तीन बजे घर से पास 500 मीटर दूर वीरेंद्र लहूलुहान हालत में दीप इंटर कॉलेज के पास खाली प्लॉट में पड़े मिले थे। 
अस्पताल में उन्हें डॉक्टर ने मृत घोषित किया था। इसी दौरान परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। सुशील की तहरीर पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की थी। एसएसपी ने बताया कि थाना शाहगंज पुलिस और सर्विलांस की टीम को जब मामले के खुलासे के लिए लगाया गया तो कई तथ्य सामने आए। पुलिस ने वीरेंद्र के एक रिश्तेदार को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। उससे सुराग मिला कि वीरेंद्र की पत्नी भावना की कॉलोनी के कपिल कुमार के साथ दोस्ती है। वह दिल्ली में रहता है।
दिल्ली नगर निगम में जूनियर इंजीनियर के पद पर तैनात है। पुलिस ने दोनों के फोन की सीडीआर निकलवाई, जिससे कई सुराग हाथ लगे। इसके बाद पुलिस ने वीरेंद्र की पत्नी को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। एक टीम को दिल्ली के लिए रवाना किया। जहां से कपिल पुत्र सूरजभान और उसके दोस्त मनीष पुत्र राम सिंह निवासी पंचशील कॉलोनी थाना शाहगंज को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में तीनों ने हत्या की बात कबूल की। आरोपितों ने बताया कि हत्या को लूट के दौरान हत्या दिखाने के लिए साजिश रची थी।