चिराग अग्रवाल की कार को गाजियाबाद पुलिस ने कर लिया है बरामद

बहुचर्चित गौरव चंदेल मर्डर केस मामले में 12 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस हत्यारों का कोई सुराग नहीं लगा पाई है। वहीं, दूसरी तरफ गाजियाबाद पुलिस को चिराग अग्रवाल की कार लावारिस हालत में खड़ी मिली है। यह कार उसी जगह से बरामद की गई, जहां से ग्रेटर नोएडा के गौरव चंदेल की कार मिली थी। पुलिस ने आशंका जताई है कि गौरव चंदेल के कातिलों के तार गाजियाबाद से जुड़े हो सकते हैं।
loading...
गाजियाबाद पुलिस ने मसूरी थाना क्षेत्र के आकाश नगर इलाके में गौरव चंदेल की कार से करीब 1 किलोमीटर दूरी पर चिराग अग्रवाल की टियागो कार को बरामद किया। कार की नंबर प्लेट बदली गई है, लेकिन कार पर लगे स्टिकर पर कार का सही नंबर लिखा हुआ है। चिराग अग्रवाल की टियागो कार मिलने के बाद से पुलिस में हड़कंप मचा हुआ है। बदमाशों ने लूट के बाद दोनों गाड़ियों को एक ही इलाके में छोड़ दिया, लेकिन पुलिस को इस बात की भनक तक नहीं लग सकी। हालांकि इस बारे में पुलिस अफसरों ने अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है उनका कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

इससे पहले गौरव चंदेल मर्डर केस में गाजियाबाद पुलिस को गौरव चंदेल का मोबाइल बरामद हुआ था। इस बात की संभावना जताई जा रही है कि चंदेल के मोबाइल से उनकी हत्या को लेकर बड़े सबूत हाथ लग सकते हैं। बता दें कि एक निजी कंपनी में सीनियर मैनेजर गौरव चंदेल बीते 6 जनवरी की देर शाम गुरुग्राम से ग्रेटर नोएडा में अपने घर लौट रहे थे। नोएडा के हिंडन नदी के पास परथला चौक पर अज्ञात बदमाशों ने सिर में गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी। इसके बाद हत्यारे उनकी कार और लैपटॉप आदि लूट कर फरार हो गए थे। इस मामले में जांच के दौरान पुलिसकर्मियों की कथित लापरवाही सामने आई है, जिसके बाद कार्रवाई करते हुए थाना बिसरख के प्रभारी निरीक्षक मनोज पाठक समेत छह पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया। जबकि एक अन्य को लाइन हाजिर किया गया था।