शादीशुदा व्यक्ति प्रेमिका के साथ होटल पहुंचा, और फिर सुबह इस कुछ ऐसे मिले दोनों

हीरानगर थाना क्षेत्र स्थित एक होटल में रुके प्रेमी जोड़े ने मंगलवार सुबह अपनी जान दे दी। पुलिस के मुताबिक, उमाशंकर (26) पिता नंदकिशोर विश्वकर्मा निवासी भागीरथपुरा ने ऑनलाइन होटल बुक की थी। सोमवार रात 12.30 बजे उमाशंकर मनीषा (19) पिता कैलाशचंद बामनिया निवासी देवास के साथ होटल पहुंचा। होटल के रूम नंबर 103 में दोनों रातभर रुके। 
सुबह 10.30 बजे जब होटल कर्मचारी महेश बघाना सफाई करने पहुंचा तो देखा कि युवती अपने कमरे से निकलकर गैलरी में बेसुध हालत में पड़ी है। कर्मचारी ने तुरंत मैनेजर राजेश सावंत को जानकारी दी। इसके बाद दोनों को एमवाय अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल पहुंचने के एक घंटे बाद युवती और तीन घंटे बाद युवक ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

छह साल पहले हो चुकी थी शादी
पुलिस ने बताया कि उमाशंकर की छह साल पहले शादी हो चुकी है। उसकी पत्नी और पांच साल का बेटा भी है। तीन दिन पहले युवक ने अपने मोबाइल से पत्नी के नंबर पर मैसेज किया था कि वह भोपाल जा रहा है। वह देवास स्थित जादूगर इंटरप्राइजेस केमिकल फ्री कंपनी में नौकरी करता था। यहीं उसकी मुलाकात मनीषा से हुई। इसके बाद दोनों मिलने लगे। 
घटना के बाद युवक के परिजन को जानकारी मिली तो वे अस्पताल पहुंचे। अभी साफ नहीं हो पाया है कि दोनों ने जहर पीकर जान क्यों दी, पुलिस को होटल के कमरे से कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। पुलिस इस मामले में परिवार वालों और उसके साथियों से बात कर पता लगाएगी कि उन्हें दोनों के उमाशंकर और मनीषा के बीच संबंध के बारे में पता था या नहीं।