पति की मौत के बाद सरकार द्वारा मिली सहायता राशि को रिश्तेदारों ने धोखा देकर हड़प लिया

ललितपुर में जहां एक और किसान की मौत के बाद उसकी पत्नी को शासन प्रशासन की तरफ से किसान दुर्घटना बीमा के 5 लाख रुपयों की भारी भरकम धनराशि उसके सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया नाराहट के खाता संख्या 377759 1407 में स्थानांतरित की गई थी। तो वहीं उसको मुआवजे की मिली धनराशि पर गांव के वही लोग कौए की निगाहें गड़ाए बैठे थे, जिन्होंने पति की मौत के बाद उसकी मदद करने का बीड़ा उठाया था। मामला थाना मदनपुर के अंतर्गत ग्राम दिदोनिया का है।जहां के रहने वाले किसान चालान सिंह की मौत की बात उसकी पत्नी राधा बेसहारा होकर बच्चों का लालन-पालन करने के लिए जिंदगी से जूझ रही थी। तभी गांव के ही देवेंद्र सिंह और केपी राजा ने उसकी मदद इस लालच में की कि जब इसे मुआवजा की धनराशि मिलेगी तो धोखा देकर उसमें से कुछ राशि यह हड़प कर लेंगे और हुआ भी यही। जब उसके बैंक खाते में 5 लाख की धनराशि उसके ट्रांसफर की गई तब देवेंद्र सिंह व केपी राजा ने उसे विश्वास में लेकर धोखाधड़ी से उसके खाते से 3 लाख 50 हजार की धनराशि अपने अपने खातों में उस स्थानांतरित करवा ली जब उक्त लोग यह कहकर उसे बैंक ले गए कि खाता बंद है चालू करवाने के लिए अगूंठा लगा दो।

चूंकि उसने उन लोगों का विश्वास इसलिए भरोसा कर लिया कि उन लोगों ने इस मामले में उसकी मदद की थी पर उसे क्या पता था कि उसके साथ धोखाधड़ी हो रही है। ऐसा आरोप महिला और रिश्तेदार ने दौनों ग्रामीणों पर लगाया है। इतना ही नही इस पूरे मामले में लिखित रूप से रोशनी जिला अधिकारी योगेश कुमार शुक्ल को शिकायती पत्र देकर मामले में कड़ी कानूनी कार्रवाई कर स्थानांतरित धनराशि को वापस दिलाए जाने की मांग उठाई है ताकि वह अपने बच्चों का लालन-पालन अच्छी तरह कर सकें।