बस की टक्कर से बाइक सवार महिला की हो गई मौत, पति समेत दो लोग हुए घायल

एक निजी बस की टक्कर से बाइक सवार दंपति समेत तीन लोग घायल हो गए। लोहिया अस्पताल पहुंचे घायलों में डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया गया। घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने बस चालक को पकड़ने की मांग कर फर्रूखाबाद-कायमगंज मार्ग पर जाम लगा दिया। जिससे मार्ग पर वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। सूचना पर पहुंचे सीओ सिटी के समझाने पर ग्रामीणों ने करीब एक घंटे बाद जाम खोला। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। बाइक सवार हेलमेट नहीं लगाए थे।
loading...
शमसाबाद थाना क्षेत्र के गांव कलुआपुर निवासी ब्रजेश गंगवार (55) अपनी पत्नी मुन्नी देवी (50) के साथ शहर में दवा लेने निकले थे। वह कुछ देर के लिए खिनमिनी गांव में अपनी पुत्री गीता देवी के यहां रुक गईं। दोपहर करीब 11 बजे जब वह शहर को चले तो गांव के तिराहा स्थित मुख्यमार्ग पर कायमगंज की ओर से आ रही एक तेज रफ्तार एक निजी बस ने बाइक में टक्कर मार दी। 

अनियंत्रित बस ने शौच के बाद पैदल घर जा रहे खिनमिनी गांव के मजरा नगला समाधान निवासी विश्राम सिंह (60) को भी टक्कर मारी। जिससे तीनों लोग घायल हो गए। घायलों को 108 एंबुलेंस से लोहिया अस्पताल भेजा गया। वहां डॉक्टरों ने मुन्नी देवी को मृत घोषित कर दिया गया। दुर्घटना को अंजाम देकर भागे बस चालक को पकड़ने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने फर्रुखाबाद-कायमगंज मार्ग पर जाम लगा दिया। इससे वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। 

सूचना मिलते ही थाना पुलिस मौके पर पहुंची, मगर ग्रामीणों ने जाम नहीं खोला। कुछ देर बाद सीओ सिटी मन्नीलाल भी पहुंच गए। उन्होंने जाम लगाए लोगों को शीघ्र बस कब्जे में लेने के लिए आश्वस्त किया। करीब एक घंटे बाद जाम खोला जा सका। जाम में फंसे लोगों को खासी दिक्कतें उठानी पड़ीं। मुन्नी देवी के तीन पुत्र मनोज, राजन, रजत और तीन पुत्री गीता, गुंजन और प्रियंका हैं। मां की मौत के बाद सभी अस्पताल पहुंचे। वहां रो-रो कर बेहाल हो गए। महिला के पति ब्रजेश गंगवार खेती करते हैं।