घर से भागी बेटी हुई पेट से तो पिता ने प्रेमी के साथ ही मिलकर किया ऐसा गलत काम

loading...
बार-बार समझाने के बावजूद बेटी नहीं मानी और प्रेमी के साथ भाग गयी। पिता ने डरा-धमकाकर और दबाव बनाकर सुनसान जगह पर बुलाया और प्रेमी के साथ मिलकर अपनी बेटी को ही बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया। शव को कुएं में फेंककर दोनों फरार हो गए। बीते 18 दिसम्बर को देहात कोतवाली थानाक्षेत्र के चिंदलिख दुबे गांव के कुएं में मिले अज्ञात लड़की के शव के मामले में पुलिस ने यही चौंकाने वाला पुलिस ने आरोपी पिता को तो गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन प्रेमी अभी भी फरार है।
हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने बताया कि अज्ञात शव की शिनाख्त जसोवर गांव निवासी रामराज यादव कि लड़की नेहा के रूप में हुई। पिता रामराज से उसकी बेटी के बारे में सख्ती से पूछताछ की गयी तो वह टूट गया और हत्या की बात कबूल ली। पुलिस के मुताबिक जसोवर कि रहने वाली मृतका और चौसा गांव के राकेश सोनकर के बीच प्रेम संबंध था। वह राकेश के साथ कई बार भाग चुकी थी। परिजनों द्वारा बार-बार मना करने के बाद भी वह नहीं मानी और फिर भाग गयी। इस बीच वह गर्भवती हो गयी। 
यह बात जब उसके पिता रामराज को चली तो उसने बेटी के प्रेमी राकेश सोनकर को फोन कर उसपर दबाव बनाया और रेप व पॉक्सो एक्ट में फंसाने की धमकी देकर उन्हें बुलाया तो वह नेहा को लेकर आ गया। 17 दिसंबर 2019 की शाम को पिता रामराज और प्रेमी राकेश नेहा को शादी कराने के बहाने बाइक पर लेकर रवाना हुए। बीच रास्ते जब दोनों जसोवर के पास चिन्दलिख गांव के पास पहुचे तो पिता रामराज ने प्रेमी राकेश को हत्या मं शामिल होने या फिर जेल जाने की धमकी दी। इसके बाद दोनों ने गड्ढे में नेहा का मुंह दबाया, जिससे वह बेहोश हो गई। इसके बाद वहां पड़े पत्थर से सिर कुचल कर हत्या कर दिया।