विवाह के अगले ही दिन पति को छोड़कर प्रेमी के पास चली गई पत्नी, और जब गलती का एहसास हुआ तो...

loading...
अभी हाल ही में जुर्म के एक मामले में एक औरत विवाह के सिर्फ सात दिन के पश्चात ही प्रेमी हेतु अपने पति को छोड़कर चली गई, जब उसे अपनी गलती का एहसास हुआ तो अब पति के नजदीक वापस आना चाहती है। वहीं, जब पति ने अपने साथ रखने से मना कर दिया, तो उसने पति के विरुद्ध भरण पोषण का मुकदमा कर दिया। ये केस करीबन 8 माह पुराना है। मिली सूचना की माने तो, भोपाल के कोलार इलाके की निवासी पत्नी ने शादी के पश्चात ही पति को बता दिया कि वह किसी और को चाहती है एवं ये शादी भी उसने अपने माता-पिता और समाज के दबाव में आकर किया है तथा वो प्रेमी के पास जाना चाहती है।
निजी कंपनी में अकाउंटेंट के पद पर कार्यरत पति ने अध्यापिका पत्नी को जाने हेतु अनुमति दे दी। पत्नी ने अपनी इच्छा से नोटरी पर पति से 9 जुलाई, 2019 को संबंध विच्छेद कर लिया। वो अपने अध्यापक प्रेमी संग रहने लगी। पति आनंदनगर का रहने वाला है। दोनों की शादी 17 मई, 2019 को हुई थी। अब पत्नी ने फैमिली कोर्ट में पति के विरुद्ध भरण-पोषण का मुकदमा किया है तथा वापस पति के पास आना चाहती हैं। वहीं, पति ने तलाक हेतु याचिका दायर की है। दोनों पक्षों की काउंसिलिंग चल रही है। 
काउंसिलिंग के दौरान पति का पूरा परिवार उसके साथ उपस्थित था। पति ने नोटरी दिखाते हुए बोला कि आपसी अनुमति से संबंध विच्छेद किया गया था। अब साथ रहने की कोई गुंजाइश नही है। हम दोनों के मध्य विवाह के पश्चात से ही संबंध समाप्त हो गया। मेरे साथ वो सिर्फ 2 दिन ही रही। अब भरण-पोषण देने का कोई सवाल नहीं उठता है। इस पर न्यायालय ने बताया है कि जब इच्छा से विवाह तोड़ा गया है, तो पति भरण पोषण देने से मना कर सकता है।