पुलिस के वाहन पर पथराव करने का मिल गया एेसा अंजाम, देखता रह गया पूरा मोहल्ला

बदमाशी और गुंडागर्दी करने वालों के खिलाफ शुक्रवार को भी प्रशासन, पुलिस और नगर निगम की संयुक्त कार्रवाई चली। बदमाश खुशवंत भदौरिया उर्फ डब्बू के घर के बाहर बनी चार अवैध दुकानों को जमींदोज कर दिया गया। इसके साथ ही तीन दिन पूर्व पुलिस वाहन डायल-100 पर पथराव करने वालों को भी सबक सिखाते हुए उनके मकानों का अवैध भाग तोड़ा गया। इसके अलावा दो दिन पूर्व पुलिस वाहन डायल-100 पर पथराव करने वाले दो बदमाशों के मकानों पर भी कार्रवाई की गई। इस दौरान बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी भी कार्रवाई देखने जमा हो गए। कार्यवाई के दौरान सुरक्षाबल भी मौजूद रहा। लक्ष्मीनगर चौराहा निवासी 23 वर्षीय बदमाश डब्बू पर मारपीट, धमकाने सहित करीब 15 मामले दर्ज हैं। 
loading...
वह कुछ महीने पूर्व ही जेल से छूटकर आया है। माफिया के खिलाफ शुरू हुई मुहिम में डब्बू का नाम भी पुलिस सूची में शामिल था। नगर निगम ने डब्बू के घर के दस्तावेज खंगाले गए तो बिना अनुमति मकान व दुकान बनी होना पाया गया। दोपहर करीब 12 बजे निगम अमला पुलिस बल व संसाधनों के साथ मौके पर पहुंचा। परिजनों ने बताया कि डब्बू यहां कभी कभार ही आता है और उक्त संपत्ति उसकी नहीं है। निगम अधिकारियों ने कोई तर्क नहीं माना और निर्माण अनुमति नहीं होने के चलते घर के सामने बनी चार पक्की दुकानों को तोड़ दिया। उक्त दुकानें किराए पर दी गई थी। कार्रवाई से पूर्व दुकानें पूरी तरह खाली नहीं हो पाने के कारण दुकानदारों को भी भारी नुकसान झेलना पड़ा।

संजयनगर में बुधवार रात दो पक्षों के बीच विवाद को लेकर पहुंची पुलिस की डायल-100 पर पथराव करना गुंडों को भारी पड़ा है। विभिन्न धाराओं में पुलिस ने प्रकरण तो दर्ज किया ही नगर निगम ने भी उनकी संपत्ति की जानकारी खंगाल अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई की। शुक्रवार शाम निगम गैंग पुलिस बल के साथ मॉडल स्कूल के पीछे गांधी नगर स्थित आरोपी नितेश उर्फ काऊ व करण उर्फ कालू के मकान पर पहुंची। यहां निगम ने मकान के अवैध हिस्सों को तोड़ा। अतिक्रमण को लेकर को लेकर निगम ने शांतिनगर के नजदीक कमला नेहरू कॉलोनी बागरी मोहल्ला में भी कार्रवाई की। इस दौरान कुछ रहवासी कार्रवाई को लेकर भड़क गए और विरोध जताने लगे। 

पुलिस ने उन्हें पकड़ समझाइश दी। इसके बाद अतिक्रमण वाले भाग को तोड़ा गया। क्षेत्र में कई लोगों ने नालियों के ऊपर निर्माण कर लिया है। इसके कारण सड़क इतनी संकरी हो गई कि निगम का कचरा वाहन यहां नहीं पहुंच पाता है। रोड को 6 मीटर चौड़ा किया जाना है। कुछ दिन पूर्व निगम ने सभी रहवासियों को नाली के पीछे तक मकान का अतिक्रमण हटाने की हिदायत दी थी। क्षेत्र में ज्यादातर मकान कच्चे हैं, कई लोगों ने तय सीमा तक अतिक्रमण हटा लिया था। 8-10 लोगों द्वारा अतिक्रमण नहीं हटाने पर शुक्रवार दोपहर निगम उपयंत्री आदित्य शर्मा टीम के साथ मौके पर पहुंचे और कार्रवाई की। इस दौरान कुछ लोगों ने विरोध जताया। अमले ने विरोध को दरकिनार कर मकानों का अतिक्रमण तोड़ दिया गया।