हिंदू बनकर किया टीचर से लव मैरिज, पत्नी के हाथ लगी 10वीं की मार्कशीट...तो फिर जो हुआ

शादीशुदा शख्स ने मजहब छिपाकर एक शिक्षिका से प्यार किया और उससे शादी कर ली। एक दिन पत्नी के हाथ उसकी दसवीं की मार्कशीट लगी तो पोल खुल गई। पोल खुलने पर आरोपी ने शिक्षिका से मारपीट की और इसके बाद फिर तीन तलाक बोलकर रिश्ता तोड़ लिया। अब पीड़िता की गुहार पर एसएसपी ने मामले की जांच थाना नागफनी को सौंपी है। नागफनी थाना क्षेत्र की एक युवती सिविल लाइंस में ट्यूशन पढ़ाने जाती थी। इस दौरान उसकी मुलाकात युवक से हो गई। युवक ने खुद को राज विश्नोई बताया। दोनों में बात बढ़ी और मुलाकात भी। आखिर में वे हरिद्धार के मंदिर में शादी कर लिए।  
शादी के बाद वह शिक्षिका संग रामपुर के बिलासपुर की सुभाषनगर डिबडिबा कॉलोनी में रहने लगा। वहां उसने बिना चिकित्सक के डिग्री के क्लीनिक खोल रखा था। एक दिन उसे क्लीनिक की दराज से उसका हाईस्कूल का प्रमाणपत्र मिला तो शिक्षिका को उसके दूसरे समुदाय का होने का राज खुला। महिला ने पति पर धोखा देने का आरोप लगाया तो उसने उसकी पिटाई कर दी। राज विश्नोई के जाल में फंसने की वजह से उसे समझौता करना पड़ा। शिक्षिका ने धर्म बदलते हुए 18 अक्टूबर 2016 को राज से उसके साथ निकाह किया। राज का साथ उसके पिता ने भी थी। उन्होंने दोनों को किराए का मकान लेकर दे दिया। 

इस दौरान यह बात भी शिक्षिका का पता चला कि उससे निकाह करने वाला पहले से ही शादीशुदा है। इसके बाद शिक्षिका ने राज की पहली पत्नी से अपनी कहानी बता दी। इसके बाद दोनों में आए दिन विवाद होने लगा। 20 नवंबर को आरोपी ने उसके साथ मारपीट की और तीन तलाक बोलकर हमेशा के लिए नाता तोड़ लिया। पीड़िता ने एसएसपी से मिलकर इंसाफ की गुहार लगाई है। एसएसपी ने मामला नागफनी थाने को भेज दिया है। प्रभारी निरीक्षक नागफनी सुनील कुमार सिंह ने बताया कि प्रार्थनापत्र मिला है। जांच करके आरोपित के खिलाफ कार्रवाई होगी।