1 साल की बेटी को रजाई में सुलाकर गई मां, लौटी तो बिस्तर से चिपकी हुई मिली मासूम की लाश

यूपी के बस्ती में एक दर्दनाक घटना सामने आई है। रजाई में सो रही एक साल की मासूम बच्ची की आग में झुलसकर मौत हो गई। घटना के बाद से मासूम की मां का रो रोकर बुरा हाल है। वो बार बार बस यही कह रही है कि काश मैं छत पर न गई होती तो मेरी बेटी आज जिंदा होती।
घटना कप्तानगंज थाना क्षेत्र के पिलखांव की है। यहां सूरत कुमार सोनी अपनी फैमिली के साथ रहते हैं। शुक्रवार सुबह वो रोजाना की तरह अपनी दुकान पर चले गए। घर में उनकी पत्नी और एक साल की बेटी राधा मौजूद थी। पिंकी रोते हुए कहती हैं, पति के जाने के बाद मैंने घर का सारा काम निपटाकर राधा को सुला दिया। मैं उसे रजाई से ढककर छत पर गेहूं फैलाने चली गई।

वो कहती हैं, छत पर जाने के कुछ देर बाद मैंने कमरे से धुआं निकलते देखा। नीचे गई तो पूरे घर में धुआं धुआं हो गया था। कमरे से आग की लपटे उठ रही थी। कुछ दिखाई भी नहीं दे रहा था। मैं तुरंत बिस्तर के पास गई। देखा तो बेटी पूरी तरह जलकर बिस्तर में चिपक गई थी। उसे देख मेरी चीख निकल पड़ी।

महिला की आवाज सुनकर आप पड़ोस के लोग वहां पहुंचे और सूरज को इसकी जानकारी दी। सूचना पर पहुंची कप्तानगंज पुलिस ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। पुलिस का कहना है कि आग शार्ट सर्किट की वजह से लगी। चिंगारी की चपेट में आकर रजाई भी जलने लगी जिसमें झुलसकर मासूम की मौत हो गई।