गोताखोरों ने 22 घंटे बाद लापता छात्र के शव को ढूंढ़ निकाला, तभी भीड़ में आईं आवाज़ तो मच गया हड़कंप

कानपुर देहात के नहरपुल परजनी पर श्रीमद्भागवत कथा के समापन के बाद विसर्जन के दौरान तीन युवकों के पानी मे डूब जाने के बाद सनसनी फैल गई थी। ग्रामीणों ने काफी मशक्कत के बाद दो युवकों को नहर से निकाल लिया। वहीं तीसरें युवक का कोई सुराग नहीं लगा। काफी खोजबीन शुरू होने के बाद भी न मिलने पर दूसरे दिन बुधवार को गोताखोरों ने 22 घण्टे बाद नहर के पानी से ढूंढ़कर शव निकाला। जिसके बाद पारिवारजनों में कोहराम मच गया। इस दौरान क्षेत्र के ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना को लेकर गांव में सन्नाटा पसरा रहा। परिजन रोते बिलखते रहे।घटना कानपुर देहात के थाना मंगलपुर क्षेत्र के दबौली खेड़ा गांव की है, जहां श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन चल रहा था। 
कथा समापन होने के बाद मंगलवार को आयोजक द्वारा पत्ता विसर्जन का कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें बड़ी धूमधाम के साथ गांव के लोग सम्मलित हुए और केला के पत्ते विसर्जन करने के लिए परजनी नहरपुल पर पहुंचे, जहां कुछ ग्रामीण नहर में उतरकर नहाने लगे। जिसमें डगरु, लल्ला सिंह और सन्तोष पानी के बहाव में डूबने लगे। ग्रामीणों ने तीनों को डूबता देख बचाने के प्रयास शुरु किए गए। ग्रामीणों के प्रयास से डगरु व लल्ला सिंह बच गए लेकिन 16 वर्षीय संतोष पुत्र मुनेश नहीं मिला। इससे परिजनों में कोहराम मच गया। देर रात तक काफी खोजबीन की गई लेकिन कहीं कोई पता न चला। पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंची।

जब देर रात तक छात्र नहीं मिला तो गांव नउवनपुरवा (मालतीपुर) से गोताखोर सुबह बुलाकर नहर उतरे। गोताखोरों के प्रयास से नहरपुल से करीब 50 मीटर दूर झीझक की तरफ बुधवार को सन्तोष का शव उल्टा पानी के अन्दर मिला। शव मिलते ही सैकड़ो की संख्या मे मौजूद ग्रामीणों में हलचल मच गया। मृतक सन्तोष के पिता मुनेश, मां अनन्ती देवी, बहनें रामा, सीमा, भाई सुरेन्द्र, रमाकांत, शशिवेन्द्र ज़ोर जोर से रोते हुए पछाड़ खाकर गिर पड़े। शव निकले कुछ समय ही हुआ था। तभी भीड़ में किसी ने चिल्लाया कि सन्तोष अभी जिन्दा है। तत्काल मंगलपुर इंस्पेक्टर शिवकुमार सिंह राठौर फोर्स के साथ अपनी गाड़ी से आनन-फानन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र झींझक लाये। जहां ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर प्रतीक पाण्डेय ने छात्र सन्तोष को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मृतक सन्तोष के शव को शीलकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।