केरोसिन अटैक की शिकार हुई युवती की इलाज के दौरान 26 दिनों के बाद हुई मौत

बुधवार की शाम बेलगांव अंतर्गत रीवागहन बाट के खेत में बेलगांव निवासी सरश्वती सिन्हा (22) पर ठाकुरटोला निवासी सुरेन्द्र पिता धरम वर्मा (22) ने केरोसिन डालकर जलाकर जान से मारने का प्रयास किया था। जिसकी 26 दिनों बाद जिंदगी और मौत से लड़ते हुए आज जिंदगी की जंग हार गई। प्राप्त जानकारी अनुसार ठाकुरटोला निवासी सुरेन्द्र ने बुधवार की शाम सरस्वती को खेत की ओर बुलाया जहां सरस्वती उससे मिलने शाम को 6 बजे गई। 
जहां सुरेन्द्र ने अपने साथ मिरिन्डा के बाटल में भरकर लाए केरोसिन और लाइटर लेकर बैठा था तथा बैगाधरसा स्थित नहरनाली मनराखन के खेत के पास दोनों के बीच विवाद हुआ तथा आरोपी ने सरस्वती के चेहरे पर केरोसिन डालकर लाईटर से आग लगा दी। जहां सरस्वती चीखने चिल्लाते हुए अपने खेत में पानी में कूद पड़ी और गांव की ओर भागी जहां उसने रास्ते में पड़े तलाब में भी कुदी। वहीं कुछ लड़कों ने उसकी चीखने की आवाज सुनकर 108 बुलाकर पीडि़ता को अस्पताल भिजवाए।

घटना की जानकारी पुलिस को लगते ही पुलिस ने अस्पताल में महिला का बयान लिया जिसमें महिला ने सुरेन्द्र वर्मा का नाम बताते हुए घटना की जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने तत्काल आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं डोंगरगढ़ अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद लगभग 60 प्रतिशत जली पीडि़ता को भिलाई रिफर किया गया किंतु उसकी गंभीर स्थिति देखते हुए उसे मेकाहारा रायपुर रिफर किया गया जहां उसकी मौत हो गई। वहीं एसडीओपी चंद्रेश ठाकुर, थानाप्रभारी अलेक्जेंडर कीरो एवं अन्य स्टाफ ने घटनास्थल पहुंचकर मिट्टीतेल की बॉटल व लाईटर, टूटी हुई चूडिय़ां, महिला की चप्पले तथा महिला के जले कपड़ों के टुकड़े को सबूत के तौर पर जब्त किया तथा स्थल का नक्शा व पंचनामा कर ले आए थे।