इस झोपड़ी से चली अफवाह ने उजाड़ दिया घर, पिता की मौत से अनजान थी 3 साल की उसकी बेटी

इंदौर के मनावर में एक दिन पहले हुई मॉब लिंचिंग में एक युवक की हत्या और पांच लोगों के घायल होने की घटना की जांच एसआईटी करेगी। गृहमंत्री बाला बच्चन के अनुसार धार एएसपी के नेतृत्व में सीएसपी, दो टीआई और तीन एसआई की एसआईटी टीम बनाई है। लापरवाही पर मनावर टीआई युवराज सिंह व एसआई शंकर लाल समेत ६ को निलंबित किया है। सीएम के निर्देश पर जीतू पटवारी मनावर और सांवेर पहुंचे एसआईटी करेगी जांच, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को दी कमान और जानकारी ली। 
पुलिस ने भाजपा नेता व सरपंच रमेश जूनापानी के साथ चार ग्रामीणों को गिरफ्तार किया है। जूनापानी का ऑडियो वायरल हुआ था, जिसमें वे लोगों को उकसा रहे थे। इंदौर के चोइथराम अस्पताल में भर्ती घायलों से मंत्री तुलसी सिलावट मिले। उनके मुफ्त इलाज और मृतक गणेश मुकाती के आश्रितों को दो लाख मुआवजे की घोषणा की। उज्जैन के लिंबापिपलिया से छह कार सवार किसान खिड़किया फाटे से बोरलाय जाने वाले मार्ग के बीच पडऩे वाली जामसिंह की झोपडी में पैसा लेने पहुंचे थे। इसी दौरान इनका विवाद हो गया। पैसा देने से बचने के लिए जामसिंह ने अफवाह उड़ा दी थी कि बच्चा चोर गिरोह गांव में आ गया है, जबकि यहां पहुंचे सभी लोग संपन्न परिवारों से संबंध रखते हैं।
शिवपुराखेड़ा गांव में गुरुवार सुबह गणेश पिता मनोज पटेल की शवयात्रा निकाली गई। इसमें हजारों लोग शामिल हुए। ग्रामीणों के अनुसार, शिवपुराखेड़ा गांव की आबादी लगभग एक हजार है लेकिन, शवयात्रा में दो हजार से अधिक लोग थे। खाती समाज के सैकड़ों लोगों के साथ मंत्री जीतू पटवारी और कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी, मनोज चौधरी और संजय शुक्ला भी शामिल हुए। स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के पुत्र नितीश सिलावट चिंटू भी पहुंचे। इसी गांव के विनोद पिता तुलसीराम मुकाती को भी बर्बरतापूर्वक पीटा गया है, जो गंभीर घायल है।

गणेश का शव बुधवार रात को ही गांव में पहुंच गया था। गणेश के शव को उसके घर के बजाय पड़ोसी मोहनलाल के घर में रखा था। गणेश के पिता की 20 साल पहले मृत्यु हो गई थी। उसके पास 18 बीघा जमीन है, जिस पर वह खेती का कार्य करता था। उसके घर में दादी शांतिबाई, मां भूरीबाई, पत्नी शिवानी और 3 साल की बेटी अनन्या है, जिन्हें गुरुवार सुबह ही हादसे के बारे में बताया गया। गणेश का अंतिम संस्कार चाचा के लडक़े शुभम पटेल ने किया। गणेश के पिता मनोज पीपल्याहाना इंदौर के रहने वाले थे। 15 साल पहले जमीन बेचकर शिवपुराखेड़ा में ही खेती की जमीन लेकर बस गए थे। घटना से चंद्रवंशीय खाती समाज में आक्रोश है। समाजजन शुक्रवार को धार जाकर एसपी को ज्ञापन सौंपेंगे।