मोहाली में गिर गया निर्माणाधीन इमारत, एक की हुई मौत, 3 लोगों को बचा लिया गया

मोहाली में खरड़-लांडरां रोड पर जेटीपीएल के पास होटल बनाने के लिए खुदाई की जा रही थी. इसी दौरान एक तीन मंजिला पुरानी बिल्डिंग गिर गई. खुदाई जेसीबी से की जा रही थी. बिल्डिंग अचानक ढहने से इसके मलबे के नीचे जेसीबी ड्राइवर समेत चार लोग दब गए. दबे लोगों को निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया. पुलिस, प्रशासन और एनडीआरएफ की टीमों ने काफी मशक्कत के बाद दबे लोगों को बाहर निकाला. इनमें तीन लोग जीवित हैं और तीनों का हॉस्पिटल में उपचार चल रहा है, जबकि जेसीबी ऑपरेटर की मौत हो गई.
हादसा शनिवार दोपहर साढ़े 12 बजे के करीब हुआ. लांडरां रोड स्थित अंबिका इंफ्रास्ट्रक्चर नामक रियल इस्टेट कंपनी के ऑफिस की तीन मंजिला कमर्शियल बिल्डिंग है. उसके साथ पीछे की तरफ कंपनी का होटल बनना है. होटल की बेसमेंट के लिए शनिवार को जेसीबी से खुदाई की जा रही थी कि अचानक पुरानी बिल्डिंग ढह गई. जेसीबी ऑपरेटर ने खुदाई के दौरान नींव के पास जोरदार टक्कर मार दी जिससे बिल्डिंग पूरी तरह हिल गई. उस वक्त पुरानी बिल्डिंग में कंपनी के ऑफिस में तीन लोग थे. तीनों बिल्डिंग के मलबे के नीचे दब गए.

इस मामले में कंपनी के मालिक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. इसमें कंपनी के मालिक प्रवीण कुमार का भी नाम शामिल है. प्रारंभिक तौर पर हादसे के लिए सीधे तौर पर कंपनी को जिम्मेदार माना जा रहा है. बताया जा रहा है कि कंपनी के मालिक ने नगर परिषद को बताया था कि वह होटल की इमारत का काम पुरानी बिल्डिंग को गिराने के बाद शुरू करेगा. ऐसा न कर उसने काम शुरू करवा दिया. होटल की बेसमेंट के लिए जेसीबी से कुछ दिनों से खुदाई चल रही थी लेकिन शनिवार को यह हादसा हो गया. पंजाब के मुख्यमंत्री ने इस मामले पर 10 दिन में जांच रिपोर्ट मांगी है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है.