अब भी नहीं सुधरी लोगों की आदतें, स्टार्टअप से चुरा ले गए हेलमेट, बैट्री और पहिए

भारतीय ट्रेनों से अक्सर ऐसे ये वाकये सामने आते रहते हैं कि कभी मग चोरी हो गया, शीट या चादर चोरी हो गई, अब ऐसी ही एक घटना सामने आई जहां एक कंपनी के वाहनों को चूना लगा दिया. दरअसल, बेंगलुरु की बाइक रेंटल कंपनी बाउंस ने एक ऐसी सुविधा शुरु की थी जिसके तहत लोगों को किराए पर बाइक दी जाती है और वे उसे खुद चलाकर आ जा सकते हैं. लेकिन लोग इन्हीं बाइक्स को क्षतिग्रस्त कर बैठे.
बाइक्स के हेलमेट तो लोगों ने निकाले ही, साथ ही उसके कवर, पहिए और बैटरी तक निकाल ले गए. कहीं-कहीं ये बाइक्स तो खटारा हालत में पड़ी मिलीं. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं तस्वीरों में दिख रहा है कि पीली और लाल रंग की बाइकें अलग-अलग जगहों पर पड़ी हुई हैं. कुछ बाइक के टायर चोरी हैं तो किसी के हेलमेट चोरी हैं.
बाउंस नाम की यह कंपनी अपने कस्टमर्स को बाइक चलाने और उन्हें पार्क करने की अनुमति देता है. बैंगलोर में बड़ी संख्या में बाउंस बाइक उपलब्ध हैं, लेकिन उनकी यह तस्वीर वायरल हो रही हैं. हैरान करने वाली बात तो यह है कि बाइक्स के जिन पार्ट्स को चुराया गया है, वे लोगों के पास नजर भी आ रहे हैं. उपयोगकर्ता चुराए गए पीले हेलमेट का प्रयोग करते नजर आ रहे हैं.
हालांकि ये पहला मामला नहीं है जब लोग सरेआम चोरी कर रहे हों, कई ऐसी बाइक या साइकिल रेंटल कंपनियां हैं जिन्हें ऐसे नुकसान सहने पड़ते हैं. तस्वीरों को देखकर सोशल मीडिया यूजर्स तो भारत में ऐसे बिजनेस और उसकी सफलता पर भी सवाल उठा रहे हैं. उनका कहना है कि ऐसे तो यह बिजनेस सफल होने से रहा.