बहन को परेशान करता था अंकुश, इसलिए जो हुआ जानकर हैरान होंगे आप...

रांची के रातू रोड के बिड़ला मैदान में चार फरवरी को इंद्रपुरी पुरी निवासी अंकुश शर्मा नामक युवक का शव मिला था़ इस हत्याकांड का खुलासा सुखदेवनगर पुलिस ने कर लिया है़ उसकी हत्या तीन किशोरों ने पत्थर, लाठी- डंडा, बेल्ट तथा लात-जूता से मार कर की थी़ पकड़े गये एक आरोपी ने पुलिस को बताया कि अंकुश काफी दिनों से उसकी बहन को परेशान कर रहा था. कई बार मना करने के बाद भी नहीं माना तो तीन फरवरी की देर रात सभी ने एकसाथ डेंडराइट का नशा किया और उसकी हत्या कर दी. इसके बाद शव को बिड़ला मैदान में बालू से दबा कर भाग गये़ पुलिस ने खून से सने कपड़े और रस्सी बरामद किया है़ यह जानकारी सिटी एसपी सौरभ ने पत्रकार वार्ता में दी़ इस दौरान कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार विमल व सुखदेवनगर थाना प्रभारी संजय कुमार भी मौजूद थे़
सीसीटीवी फुटेज और सूचना पर हुआ खुलासा : पुलिस के अनुसार बिड़ला मैदान के सामने बने एक घर के सीसीटीवी फुटेज से काफी सहायता मिली है. फुटेज के आधार पर एक किशाेर की पहचान हुई़ उसे हिरासत में लिया गया, तो उसने अपराध कबूल कर लिया़ इसके बाद उसकी निशानदेही पर दो अन्य किशोरों को गिरफ्तार किया गया़ दोनों ने भी घटना को अंजाम देने की बात स्वीकार कर ली है. उनलोगाें ने पुलिस को बताया कि अंकुश भागने का प्रयास कर रहा था इसलिए बिड़ला मैदान के पास पड़े प्लास्टिक की रस्सी से उसका पैर बांध दिया था़ फिर हत्या करने के बाद साक्ष्य छिपाने की नियत से शव को बालू से ढंक दिया और भाग गये़

सिटी एसपी ने बताया कि अंकुश ने गिरफ्तार किये गये आरोपियों में से एक से 1000 रुपये लिया था. मांगने पर उसके साथ विवाद हुआ था. घटना वाले दिन भी वह रुपये मांगने पर उलझ गया था. उसके बाद मारपीट शुरू हुई थी और उसकी हत्या कर दी गयी़ गौरतलब है कि चार फरवरी को दिन के चार बजे बिड़ला मैदान में कुछ बच्चे क्रिकेट खेल रहे थे. इसी दौरान बॉल कुछ दूरी पर बालू की ढेर की तरफ चला गया था. बॉल उठाने गये बच्चे ने बालू में दबा शव और जूता देखा था़ उसने शोर मचाया तो आसपास के लोग जुट गये थे. उसके बाद पुलिस को जानकारी दी गयी और शव निकाला गया था़ काफी पूछताछ के बाद शव की पहचान इंद्रपुरी निवासी अंकुश शर्मा की रूप में हुई थी़