बेवफा पत्नी ने जवानी में किया प्रेमी से प्यार तो बुढ़ापें में कर दिया पति की हत्या, वजह हैरान कर देगी...

बकेवर थाना क्षेत्र में हुई राजपाल नाम के व्यक्ति की हत्या का सनसनी खेज खुलासा हुआ है जिसको सुन आप भी चौंक जाएंगे। क्योंकि यहाँ राजपाल की ह्त्या किसी और ने नहीं बल्कि उसी की पत्नी ने अंजाम देने का काम किया था और साथ में शामिल था। राजपाल की पत्नी का वह प्रेमी जो शादी के बाद से बुढ़ापें की दहलीज तक उसे चाहता रहा। 
लेकिन राजपाल को इस बात की भनक तक न लगने दी और जब राजपाल को सालों बाद यानिकि बुढ़ापें की दहलीज पर पहुंचने के बाद पत्नी की बेवफाई का राज खुला तो पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर राजपाल की हत्या की साजिश रच डाली। राजपाल की हत्या का खुलासा भी न हो पाता अगर राजपाल की बेटी ने शक जताते हुए पुलिस को एक प्रार्थना पत्र न दिया होता। जिसमें राजपाल की बेटी ने अपनी ही माँ पर शक जाहिर किया था। पुलिस को भी आशंका हुई तो उसने राजपाल की डेड बॉडी के आस-पास के सबूत जुटाने के लिए फोरेंसिक टीम का सहारा लिया और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने का इन्तजार किया।

और जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट आयी तो उसने सभी को चौका कर रख दिया। क्योंकि राजपाल की हत्या दम घुटने से हुई थी। यानी राजपाल के मुँह को किसी वास्तु से दबाया गया होगा और दम घुटने के बाद बंद हुई दिल की धड़कन के पश्चात राजपाल के गले को काफी देर तक दबाया गया। इस बात की पुष्टि के दौरान आयी फोरेंसिक रिपोर्ट ने पुरे हत्यक्रम में ट्विस्ट ला दिया। जिसके तहत राजपाल के गले और आस-पास मिले उँगलियों के निशान उसी की पत्नी के थे पर एक और उँगलियों के निशाँ पुलिस के शक को गहरा कर चुकी थी। जिसके खुलासे के लिए पुलिस ने बिना कुछ सोंचे-समझें राजपाल की पत्नी को उठा लिया और थाने लेकर महिला कस्टडी में कड़ाई से पूछ-ताछ की तो वह टूट गयी और उसने अपने पति राजपाल की हत्या किया जाना स्वीकार कर लिया।

थानाध्यक्ष की मानें तो मृतक राजपाल की हत्यारोपी पत्नी ने हत्यक्रम में अपने प्रेमी हसन अली का साथ देना बताया। जिसके बताये अनुसार पुलिस ने हसन अली की तलाश जारी कर दी और सकूराबाद तिराहे से उसे गिरफ्तार कर लिया गया। जिसमें मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी हसन अली ने पूछताछ के दौरान बताया राजपाल संबंधों को लेकर बाधक बन रहा था। जिसके चलते उक्त दोनों लोगों ने मिलकर गला दबाया और उसको मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने उमा देवी पत्नी स्वर्गीय रजय पाल व हसन अली पुत्र हबीब शाह निवासी पहाड़ीपुर के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत करके जेल भेज दिया गया।