मौत ने एक बार दिया बचने का मौका , लेकिन दूसरी बार उसको नहीं बख्शा, युवती की हो गई मौत

अज्ञात कारणों के चलते बीए प्रथम वर्ष की छात्रा ने गमछे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना कोतवाली थाना क्षेत्र के हनुमानगढ़ी इलाके की है। पुलिस ने शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दियाहै। मौके पर एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंची। पुलिस के मुताबिक पूनम यादव (19) पुत्री बबलू यादव निवासी अंडोरा हनुमान गढ़ी के पास स्थित कॉलोनी में प्रकाश गोस्वामी के मकान मेंं दो भाइयों के साथ किराए के मकान में रहती थी। 
गुरुवार की सुबह उसने छोटे भाई को नाश्ता खिलाया और स्कूल भेज दिया। इसके बाद उसने कमरे में गमछे से गले में फंदा लगाकर छत के कुंदे से झूल गई। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। सूचना मिलने पर डायल 100 वाहन मौके पर पहुंची। सूचना मिलने पर एफएसएल अधिकारी डॉ. सतीश मान भी मुआयना करने पहुंचे। मौके पर पाया गया कि पहले तो पूनम ने रस्सी से फांसी लगाने का प्रयास किया था पर वह रस्सी कमजोर होने के कारण टूट गई। 

बाद में उसने गमछे से फांसी लगाई और मौके पर ही उसकी मौत हो गई । मृतका के भाइयों के मुताबिक जिस रस्सी से फंदा लगाया वह उनके घर में थी ही नहीं। डॉ.मान का कहना है कि गले में निशान व गमछे पर पूनम के टूटे हुए बाल मिले हैं । इससे साबित हो रहा है कि उसने आत्महत्या ही की है। बाकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद और स्थिति साफ हो जाएगी।