गजक व्यापारी का बेटा हुआ लापता, परिजनों ने गुमशुदगी कराई दर्ज, छानबीन में जुटी हुई है पुलिस

मनोहरलाल दौलतराम गर्ग गजक वालों का पुत्र ऋषभ गर्ग (30) शुक्रवार दोपहर को लापता हो गया। वह कोतवाली स्थित अपने पुराने घर में बने देवी मंदिर में दर्शन करने गए थे। तब से उनका पता नहीं है। परिजनों ने थाना छत्ता में गुमशुदगी दर्ज कराई है। पुष्पांजलि एक्सटेंशन, हरीपर्वत निवासी ऋषभ पुत्र दौलतराम का कोतवाली क्षेत्र में चांदी की पायल का कारखाना है।
वह शुक्रवार दोपहर दो बजे अपने कर्मचारी सुमित के साथ मन:कामेश्वर मंदिर में दर्शन करने गए थे। इसके बाद कोतवाली के खालसा गली स्थित अपने पुराने घर आए। यहां पर ऋषभ को घर में बने मंदिर में दर्शन करने थे। दर्शन करने के बाद कर्मचारी से आगे जाने के लिए बोल दिया। इसके बाद ऋषभ लापता हो गए। कर्मचारी ने मोबाइल मिलाया, लेकिन रिसीव नहीं हुआ। इस पर घर आकर जानकारी दी। परिजनों ने थाना छत्ता में गुमशुदगी दर्ज कराई है। ऋषभ गर्ग दरेसी पर लगे सीसीटीवी कैमरे में नजर आ रहे हैं।

सीओ छत्ता उदयराज सिंह ने बताया कि ऋषभ के मोबाइल की अंतिम लोकेशन कुबेरपुर, एत्मादपुर की आई है। उन पर कर्ज होने की भी जानकारी मिली है। कुछ देनदारों से उसकी व्हाट्स एप पर चैट भी हुई थी। इसकी जानकारी देनदारों ने दी है। वह सीसीटीवी कैमरों में अकेले ही जाता दिख रहा है। फिलहाल अपहरण का कोई मामला नहीं है। ऋषभ के लापता होने पर परिजन सबसे पहले थाना हरीपर्वत गए। मामला सुनकर पुलिस ने थाना कोतावली भेज दिया। कोतवाली से थाना मंटोला भेज दिया गया। जांच में सीसीटीवी कैमरों के फुटेज मिले। यह छत्ता क्षेत्र के थे। इस पर परिजनों को थाना छत्ता भेज दिया गया। इसके बाद जांच शुरू हुई। ऋषभ शादीशुदा हैं।