मौत की छलांग लगाने वाली मेडिकल छात्रा के ये लोग थे आरोपी, जानिए...

कानपुर शहर में मेडिकल छात्रा के सुसाइड के मामले में नया मोड़ आया है। मृतक छात्रा के परिजनों ने मेडिकल कालेज पर गंभीर आरोप लगाए है। परिजनों का आरोप है कि दलित होने की वजह से छात्रा का उत्पीड़न होता था। मृतका के परिजनों ने मेडीकल कॉलेज प्रिंसिपल समेत तीन लोगों के खिलाफ स्वरूप नगर थाने में तहरीर दी है।
आपको बता दें कि जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस अंतिम वर्ष की छात्रा ने सुसाइड कर लिया था।  पिछले दिनों उसने गंगा बैराज से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली थी। उसके बाद मृतका की लाश दूसरे दिन उन्नाव से बरामद कर ली गई थी। जिसके बाद 4 पेज का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ था। मृतका के परिजनों का आरोप है कि मेडिकल कालेज की प्रिंसिपल, एचओडी डॉ ऋचा गिरी, डॉ यशवंत राय और डॉ किरण पांडेय मिलकर उनकी बेटी का लगातार उत्पीड़न कर रहे थे।

जिसके चलते परेशान होकर उनकी बेटी ने गंगा में कूदकर अपनी जान दे दी। मृतका के पिता का कहना है बेटी ने उत्पीड़न के बारे में उनसे शिकायत की थी। छात्रा का भविष्य देखते हुए उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। कालेज प्रशासन ने इतना प्रताड़ित किया कि तंग आकर उसने अपनी जान दे दी। उन्होंने कहा कि संस्थान में एससी-एसटी छात्रों का उत्पीड़न किया जाता है। पुलिस के अधिकारी मामले की जांच कराकर कार्रवाई की बात कह रहे हैं।