इश्क के चक्कर में महिला प्रोफेसर को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया, हालत गंभीर

महाराष्ट्र के वर्धा जिले में एक महिला प्रोफेसर को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने का मामला सामने आया है. महिला प्रोफेसर को गंभीर हालत में इलाज के लिए नागपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया है. बताया जा रहा है कि एकतरफा मोहब्बत के चलते इस वारदात को अंजाम दिया गया है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है. मामला वर्धा जिले के हिंगणघाट कस्बे का है. यहां सोमवार सुबह आरोपी विकेश नगराले ने महिला प्रोफेसर पर उस वक्त हमला किया जब वह राज्य परिवहन की बस से नीचे ही उतरी थी. आरोपी उसके सिर और चेहरे पर पेट्रोल डालकर उसे आग के हवाले कर मौके से फरार हो गया. आरोपी बाइक लेकर आया था और उसने उसी से पेट्रोल निकाला था. घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने किसी तरह आग को बुझाया और महिला प्रोफेसर को इलाज के लिए नजदीक के अस्पताल पहुंचाया.
प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ है कि आरोपी ने एकतरफा मोहब्बत के चलते इस वारदात को अंजाम दिया है. पुलिस को पता चला है कि आरोपी और पीड़िता पूर्व में एक दूसरे के परिचित थे, लेकिन बाद में दोनों के बीच दोस्ती टूट गई थी. इसी बात से खफा होकर विकेश ने बदला लेने के लिए महिला प्रोफेसर को जिंदा जलाने का साजिश रची थी. पुलिस ने आरोपी विकेश को नजदीक के गांव से गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया. अदालत ने आरोपी को आठ फरवरी तक रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया है. एक निजी फर्म में काम करने वाले आरोपी के बारे में पुलिस को पता चला है कि वह शादीशुदा है और उसका एक सात महीने का बेटा भी है.

पीड़िता का अभी नागपुर के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है. उसका इलाज कर रहे डॉक्टरों के मुताबिक उसकी हालत अभी चिंताजनक बनी हुई है. सिर और चेहरे पर पेट्रोल डालकर जलाने की वजह से उसके आंखों की रोशनी जाने और बोलने की क्षमता खत्म होने का डर है. वहीं श्वसन तंत्र को भी काफी नुकसान पहुंचा है इस वजह से उसे सांस लेने में दिक्कत हो रही है. महाराष्ट्र के वर्धा जिले में जिस महिला को आग लगाई गई उसकी हालत 'बेहद गंभीर' है, अस्पताल के अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. इस बीच, वर्धा के हिंगणाघाट और समुद्रपुर इलाकों के निवासियों ने घटना को लेकर मंगलवार को विरोध मार्च निकालकर आरोपी विकेश नगराले (27) को मृत्युदंड देने की मांग की. आरोपी ने महिला कॉलेज में शिक्षिका अंकिता पिसुडे (25) पर सोमवार को कॉलेज जाते समय पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी थी.

महिला प्रोफेसर पर हुए जानलेवा हमले के बाद लोगों का आक्रोश फूट पड़ा है. स्थानीय लोगों ने मंगलवार को हिंगणघाट बंद का आह्वान किया. सैकड़ों लोगों ने सड़कों पर उतरकर आरोपी को कड़ी सजा देने की मांग की है. वहीं, पीड़िता की मां के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे है. मां का कहना है कि जिस तरह बेटी को जलाया गया है उसी तरह आरोपी को जिंदा जलाया जाए. एक अधिकारी ने बताया, 'नगराले शादीशुदा है और उसका सात महीने का बेटा भी है. वह बल्हारशाह में एक कंपनी में काम करता है। वह महिलाओं का पीछा करता था। उसने पिछले साल आत्महत्या की भी कोशिश की थी. हालांकि उस समय किसी ने इसकी शिकायत दर्ज नहीं कराई थी.' महिला को पहले नजदीकी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया जहां से उसे नागपुर में ऑरेंज सिटी हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर भेज गया.