बेटे का सपना पूरा करने के लिये माँ ने बेच दी जमीन, सालों बाद बेटे ने दिया ये तोहफा

दोस्तो अगर बच्चे में टेलेंट हो, तो माता और पिता उसके लिये क्या कुछ नही करते है। आज हम आपको हमारी इस पोस्ट से टेलेंट की एक ऐसी ही कहानी बताने जा रहे है, जो मथुरा के जटपुरा गाँव के एक युवक की है। दोस्तो यहा के रहने वाले गौतम गौतम चौधरी में बचपन से ही गजब का टेलेंट मौजूद था। लेकिन उसके टेलेंट की हर जगह पर कद्र नही होती थी। लेकिन दोस्तो गौतम की माँ कुंती देवी ने हमेशा उसे समझा और उसकी जहां तक हो सके उतने तक मदद की।
दोस्तो गौतम पर चार साल पहले मिसाइल बनाने का जूनून सवार हुआ। लेकिन इसके लिए लाखो रूपये चाहिए थे। बेटे का सपना पूरा करने के लिए उसकी माँ ने अपनी जमीन बेच दी और चार लाख का कर्ज तक ले लिया। बता दे कि चार सालो तक अलग अलग विशेषज्ञों से बात करने के बाद कई तरह की जानकारियाँ जुटाने के बाद में गौतम ने एक ऐसी मिसाईल बनाने में सफलता हासिल कर ली, जो एक बार में दस निशाने साध सकती थी। इसमें सॉलिड बूस्टर और जेट जैसे दो इंजन हैं। गौतम के अनुसार वर्तमान में इसका वजन 35 से 40 किलोग्राम है।
दोस्तो इसे जब गौतम ने बेंगलोर में स्थित इसरो के सेंटर में प्रस्तुत किया, तो देश और दुनिया के लोग इसकी तारीफ़ करने लगे। जानकारी के लिए बता दे कि जापान की एक बहुत ही बड़ी कम्पनी ने 40 लाख के पेकेज पर गौतम को हायर कर लिया है।