पत्नी से कहता था ये काम करो बहुत पैसा है नही कर पायी तो पति ने उसके साथ किया ऐसा काम जानकर खून खोल उठेगा आपका

शहर में महिला थाना पुलिस की लापरवाही के कारण एक महिला को तीन तलाक का दंश झेलना पड़ रहा है। पीड़िता ने अपने पति और ममेरे ससुर के खिलाफ महिला थाने में 10 जुलाई को शिकायत की थी, मगर थाना पुलिस ने आरोपित पर कोई कार्रवाई नहीं की। नतीजा यह रहा कि पति ने मायके में रह रही पत्‍‌नी को तीन तलाक दे दिया। तहरीर वापस न लेने पर अंजाम भुगतने की धमकी तक दे डाली। पीड़िता ने पुलिस ऑफिस में कार्रवाई की मांग की है।
लिसाड़ी गेट क्षेत्र के श्यामनगर निवासी इशरत ने सोमवार को पुलिस ऑफिस में दिए प्रार्थना पत्र में कहा कि उसका निकाह मई 2011 को लुहारपुरा इस्लामाबाद निवासी नूर आलम से हुआ था। आरोप है कि दहेज के लिए ससुराली उसे प्रताड़ित करने लगे। इस बीच नूर आलम पत्‍‌नी के गहने बेचकर सऊदी अरब नौकरी करने चला गया। दो साल बाद वापस आया तो मकान खरीदने के नाम पर मायके से रुपये लाने को कहा। 

इशरत ने डेढ़ लाख रुपये लाकर पति को दे दिए। आरोप है कि इसके बाद भी नूर आलम ने मारपीट कर उसे निकाल दिया। वह मायके में रहने लगी। इशरत ने इसकी शिकायत महिला थाने में की, मगर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। 13 अगस्त को नूर आलम अपने मामा के साथ इशरत के घर पहुंचा और मारपीट कर तीन बार तलाक बोल दिया।